भिलाई। नईदुनिया प्रतिनिधि

खुर्सीपार के शासकीय स्कूल के परिसर में रखे एक पुराने ह्यूम पाइप के नीचे दबने से एक छात्र की मौत हो गई। मृतक दोपहर की पाली में स्कूल गया हुआ था। क्लास लगने के पहले वो अपने दोस्तों के साथ पाइप के पास खेलने लगा। इसी दौरान पाइप लुढ़का और छात्र उसके नीचे दब गया। हादसे के बाद स्कूल प्रबंधन ने घायल अवस्था में घर भेज दिया। जहां से परिजन उसे अस्पताल ले गये जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने बताया कि एनपीआर रोड जोन-2 खुर्सीपार वार्ड 37 विष्णु देवांगन का 11 वर्षीय बेटा दीप देवांगन शुक्रवार को बाबा बालकनाथ मंदिर के पास स्थित शासकीय स्कूल में पढ़ने के लिए गया था। दोपहर 11ः30 बजे ही वो स्कूल पहुंच गया था। क्लास शुरू होने के पहले वो अपने कुछ दोस्तों के साथ ही स्कूल परिसर में रखे एक पुराने ह्यूम पाइप के पास खेलने लगा। मृतक व उसके छात्र पाइप के एक तरफ से भीतर घुसकर दूसरे तरफ से निकलने लगे। इसी दौरान छात्र दीप देवांगन नीचे गिर गया और ह्यूम पाइप लुढ़ककर उसके ऊपर चढ़ गया। पाइप के बाद उसे स्कूल प्रबंधन ने उसे घर भेजवा दिया। जहां से परिजनों ने उसे अस्पताल ले गये जहां रास्ते में उसकी मौत हो गई।

स्कूल से लौटकर छात्रा ने लगाई फांसी

इधर, एमजीएम स्कूल सेक्टर-6 में कक्षा नवमीं में पढ़ने वाली छात्रा व बास्केटबॉल की नेशनल खिलाड़ी ने स्कूल से लौटकर घर पर फांसी लगा ली। सिंधिया नगर दुर्ग निवासी प्रतीक सिन्हा की 14 वर्षीय बेटी निष्ठा सिन्हा एमजीएम स्कूल की छात्रा एवं बास्केटबॉल की नेशनल खिलाड़ी है। छात्रा को उसका पिता रोजाना हुड़को में उसके नाना के घर पर छोड़ देता था। वहां से वो बस से स्कूल जाती थी शाम को हुडको ही जाती थी। शाम को उसका पिता हुडको से घर ले जाता था। गुरुवार की शाम को छात्रा निष्ठा सिन्हा स्कूल से अपने नाना के घर हुडको लौटी और घर के ऊपर के कमरे में जाकर उसने फांसी लगा ली। छात्रा के नाना से उसकी लाश को पंखे से झूलते देखा तो उसे फौरन उतारकर सेक्टर-9 अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतका ने कोई सुसाइड नोट नहीं छोड़ा है। इस कारण से मौत का कारण भी स्पष्ट नहीं हो सका है। परिजनों ने पुलिस को बताया कि स्कूल से लौटने के बाद से ही छात्रा काफी ज्यादा परेशान थी।

Posted By: Nai Dunia News Network