भिलाई (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जैन समाज द्वारा हर वर्ष होने वाला चातुर्मास में बदलाव हुआ है। इस बार चातुर्मास चार नहीं बल्कि पांच माह का होगा। इसका प्रमुख कारण तिथि में बदलाव को बताया जा रहा है।

कुम्हारी स्थित कैवल्यधाम तीर्थ में जैन धर्म में चातुर्मास श्रावण मास के कृष्ण पक्ष के एकम तिथि से प्रारंभ होकर कार्तिक पूर्णिमा को समाप्त होता है। इस वर्ष चातुर्मास छह जुलाई से प्रारंभ होकर तीस नवंबर को समाप्त होगा। चातुर्मास की प्रमुख मान्यता है कि हर चौथे साल तिथियों के बढ़ने या घटने के कारण पांच माह का चातुर्मास होता है। इस बार पांच मासीय वर्षाकाल के दौरान आठ दिवसीय पर्यूषण पर्व अगस्त माह में 15 तारीख के आसपास प्रारंभ होगा।

पर्यूषण पर्व समाप्ति पर संवत्सरिक प्रतिक्रमण होता है। इसमें संसार के समस्त जीवों से क्षमायाचना की जाती हैं। इस वर्षाकाल में साधु-संत अपनी दिनचर्या में त्याग, तपस्या, आगमो (धर्म ग्रंथों) के गहन अध्ययन में स्थिरता रखते हैं। छत्तीसगढ़ के जैन प्रसिद्ध तीर्थ कैवल्यधाम में इस वर्ष साधु-साध्वी, भगवंतों के चातुर्मास होने की संभावना है, जिनमें अध्यात्म योगी महेन्द्र सागर महाराज, युवा मनीषी डॉ. मनीष सागर महाराज साहब आदि ठाणा, बस्तर प्रहरी राजेश महाराज साहब आदि ठाणा चातुर्मास कर सकते हैं।

तीर्थ के पीआरओ संजय चोपड़ा ने बताया कि वर्तमान में पूरे विश्व में वैश्विक महामारी कोरोना का संक्रमण फैला हुआ है। सरकार के निर्देशों का परिपालन पूर्ण रूप से किया जाना है। ऐसे में चातुर्मास के समय में श्रद्धालुओं के कैवल्यधाम तीर्थ परिसर में विभिन्न राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को तीर्थ परिसर में पहुंचने को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है। बाक्स

दुर्ग में चार जुलाई से शुरू होगा चातुर्मास

श्री जैन श्रवण संघ दुर्ग में भी इस बार चातुर्मास चार नहीं बल्कि पांच माह को होगा। यह चातुर्मास चार जुलाई से प्रारंभ होकर 13 नवंबर को समाप्त होगा। संघ के नवीन संचेती ने बताया कि हर साल चातुर्मास बांधा तालाब स्थित आनंद मधुकर भवन में होता है। इस बार रतन मुनि स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। इसके लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है। 12 जुलाई को जैन समाज के लोग रतन मुनि से मिलकर दुर्ग में ही चातुर्मास करने की प्रार्थना करेंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना