भिलाई। नईदुनिया प्रतिनिधि

कोरोना संकट से जूझ रहे भिलाई इस्पात संयंत्र का उत्पादन बढ़ाने का फैसला फिलहाल रोक दिया गया है। जून प्रथम सप्ताह में हॉट मेटल प्रोडक्शन नौ हजार टन से बढ़ाकर 12 हजार टन करना था। मार्केट की खराब स्थिति को देखते हुए फिलहाल, इस फैसले को टाल दिया गया है। बताया जा रहा है कि हॉट मेटल का प्रोडक्शन बढ़ाने के बाद इसको खपाने की बड़ी समस्या पैदा हो जाएगी। प्लेटमिल, मर्चेंट मिल और वायर रॉड मिल का उत्पादन बढ़ाना है। लेकिन मांग कम होने से प्रोडक्शन रोका गया है। ऑर्डर जुटा लेने के बाद उत्पादन को शुरू किया जाएगा ताकि बीच में प्रभावित न होने पाए। भिलाई इस्पात संयंत्र के वरिष्ठ अधिकारी बताते हैं कि वर्तमान में करीब नौ हजार टन तक औसत हॉट मेटल प्रोडक्शन हो रहा है। प्लान किया जा रहा था कि फर्नेस-6 को जून प्रथम सप्ताह में ही चालू कर लिया जाए। ग्राहक की मांग अपेक्षाकृत नहीं है। मार्केट उठ नहीं रहा है। प्लेटमिल, मर्चेट मिल और वायर राड मिल के पास पर्याप्त ऑर्डर नहीं है, इसलिए सोच-समझकर ही फैसला लिया जा रहा है। हॉट मेटल प्रोडक्शन का आंकड़ा 12 हजार टन तक ले जाना है। भिलाई इस्पात संयंत्र का कहना है कि उत्पादन करने के बाद प्रोडक्ट को डंप नहीं होने देना हैं। अगर, तैयार माल फंसता है तो इससे भारी नुकसान होता है। इसी नुकसान से बचने के लिए समय का इंतजार किया जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना