भिलाई(नईदुनिया प्रतिनिधि)। रंजीत सिंह हत्याकांड के फरार आरोपित भाजयुमो नेता लोकेश पाण्डेय की तीन दुकानों को प्रशासन ने ढाह दिया। कहा जा रहा है कि तीनों दुकानें अवैध थी, तथा रंजीत सिंह की हत्या की योजना यहीं बैठकर बनाई गई थी। इधर रंजीत हत्याकांड में शामिल पांच आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। भाजयुमो के जिला महामंत्री लोकेश पाण्डेय तथा एक अन्य फरार बताए जा रहे हैं।

बता दें कि बीते शनिवार की रात कैंप एक बिहारी मोहल्ला निवासी रंजीत सिंह की बैसबाल के बैट व धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। हत्या के आरोपित लक्जरी कार में आए थे। कहा जा रहा है कि कार में कुल सात लोग सवार थे। रात 12 बजे रंजीत की हत्या करने के बाद आरोपित उसे कार में डालकर सुपेला अस्पताल के सामने ले गए। लाश अस्पताल के सामने फेंककर भाग निकले थे। सीसी टीवी कैमरे में घटना कैद होेने के बाद हड़कंप मचा। आरोपित में भाजयुमो के जिला महामंत्री लोकेश पाण्डेय भी शामिल है।

राम नगर स्थित तीन अवैध दुकानों पर चला बुलडोजर

घटना के बाद फरार पांच आरोपितों को पुलिस ने गिरप्तार कर लिया है। वहीं लोकेश पाण्डेय तथा एक अन्य को फरार बताया जा रहा है। पुलिस ने आज लोकेश पाण्डेय के राम नगर स्थित तीन अवैध दुकानों पर बुलडोजर चला दिया। दोपहर बाद यह कार्रवाई की गई। पुलिस का कहना है कि तीनों दुकानें अवैध थी। इन्हीं दुकानों में बैठकर रंजीत सिंह की हत्या की योजना बनाई थी। योजना में लोकेश पाण्डेय भी शामिल था।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close