भिलाई, नईदुनिया प्रतिनिधि। Bhilai News : शहर में इन दिनों चोरी की घटनाएं काफी ज्यादा बढ़ गई हैं। खासकर सूने मकान इन दिनों बदमाशों के निशाने पर हैं। कोई भी व्यक्ति यदि परिवार समेत एक दिन के लिए भी बाहर जा रहा है तो बदमाश उसके घर पर हाथ साफ कर दे रहे हैं।

हैरान करने वाली बात यह है कि इस तरह के मामलों का अभी तक पर्दाफाश भी नहीं हो सका है। पुलिस यही तय कर सकी है कि इन अपराधों के पीछे किसी गिरोह का हाथ है या फिर नशेड़ी किस्म के लोग अपनी जरूरतों की पूर्ति के लिए ऐसा कर रहे हैं। चोरी के जो मामले खुले हैं, उनके आरोपितों का पुलिस के पास पहले से रिकॉर्ड रहा है। वहीं अभी जिस तरीके से चोरियां हो रही हैं, उनके बदमाश अभी तक गिरफ्त से बाहर हैं।

चालू वर्ष के छह महीनों में ही अभी तक जिले में 350 से अधिक चोरी की घटनाएं हो चुकी हैं। इनमें सूने मकानों से चोरी से लेकर राह चलते लोगों से पर्स व मोबाइल छीनने और बाइक चोरी भी शामिल हैं। 300 से अधिक मामलों में तो अभी तक आरोपितों का सुराग नहीं मिल सका है। जो मामले पेंडिंग हैं, उनमें भी 100 से अधिक मामले नकबजनी के हैं। पुलिस का हमेशा से दावा रहा है कि चोरी के मामलों को सुलझाने के लिए अलग-अलग टीमें लगी हुई हैं, लेकिन अभी तक पुलिस को बड़ी सफलता नहीं मिली है।

औसतन हर दिन तीन चोरियां

जिले में औसतन हर तीन चोरी की घटनाएं हो रही हैं। यदि कोई भी परिवार किसी काम से एक दिन के लिए भी बाहर जा रहा है तो उसके घर पर चोरी की घटना हो जा रही है। अभी महीने भर में 30 से अधिक ऐसे मामले दर्ज हुए हैं। जिसमें परिवार किसी काम या समारोह में शामिल होने के लिए गया है और उसके घर पर चोरी हो गई है। औसतन रोजाना चोरी की जो तीन घटनाएं हो रही हैं, उनमें अधिकांश घटनाएं शहरी क्षेत्र में ही हुई है।

प्रोफेशनल बदमाश ही आए गिरफ्त में

जिले में हुई चोरी के जिन मामलों को पुलिस ने सुलझाया है, उनमें अधिकांश मामलों के आरोपित प्रोफेशनल बदमाश ही रहे हैं। जैसे तीनदर्शन मंदिर के सामने बाइक के शो रूम में चोरी करने के मामले में गिरफ्तार आरोपित लोकेश श्रीवास पूर्व में भी पकड़ा जा चुका था। उसके बारे में पुलिस को जानकारी थी। वैसे ही सुपेला के मोबाइल दुकान में चोरी करने वाला सलमान अंसारी भी रायपुर में गिरफ्तार हो चुका था।

टीमें लगी हुई हैं

'चोरी के मामलों को सुलझाने के लिए टीमें लगी हुई हैं। कुछ मामले खुले भी हैं। कुछ और मामलों को सुलझाने के करीब हैं। अन्य मामलों पर भी काम चल रहा है।' - रोहित झा, एएसपी शहर