भिलाई। टाउनशिप और पटरी पार क्षेत्र के बीएसपी आवासों में बीते 46 दिनों से की जा रही गंदे पानी की आपूर्ति पर सोमवार को जिला प्रशासन हरकत में आया। कलेक्टर ने बीएसपी के अधिकारियों की बैठक लेकर लापरवाही के लिए जमकर फटकार लगाई।

बीएसपी द्वारा पानी साफ करने अब तक किए गए प्रयासों की जानकारी लेते हुए दो टूक कहा कि बीएसपी ने अब तक जो भी किया उससे आम जनता संतुष्ट नहीं है। फटकार लगाते हुए कलेक्टर ने कहा कि सारे पैरामीटर में पानी की गुणवत्ता खरी उतरनी चाहिए। पानी शुद्घ है तो इसका रंग भी उसी तरह दिखना चाहिए। इसमें एक प्रतिशत कमी की भी गुंजाइश बर्दाश्त नहीं होगी।

विशेषज्ञों से राय लेकर अस्थायी रूप से समस्या को दूर करने बीएसपी तुरंत कदम उठाए।

बीएसपी की पेयजल व्यवस्था को लेकर जारी लापरवाही पर आज कलेक्टर डा. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे जमकर भड़के। आज कलेक्टोरेट में उन्होंने बीएसपी नगर सेवाएं विभाग के अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में कलेक्टर ने पेयजल को लेकर आ रही शिकायतों को लेकर कई बार फटकारा। इस दौरान उन्होंने पानी को लेकर बीएसपी द्वारा अब तक उठाए गए कदमों की जानकारी ली।

-जो भी किया वह बेअसर रहा

कलेक्टर डा. भुरे ने बीएसपी अफसरों से कहा कि मैं स्वयं फिल्टर प्लांट पहुंचा था, वहां निरीक्षण के दौरान यह निर्देश दिया था कि पेयजल को लेकर नागरिक पूरी तरह संतुष्ट रहें। बीएसपी प्रबंधन ने सिस्टम ठीक करने कार्रवाई जरूर की है लेकिन यह प्रभावी नहीं रही है।

क्योंकि अब भी शिकायतें लगातार आ रही हैं। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों से राय लेकर अस्थायी रूप से समस्या को दूर करने का हल खोजें और लोगों की समस्या तुरंत हल करें।

-सारे पैरामीटर पर पानी की गुणवत्ता खरी उतरे

बैठक में कलेक्टर डा.भुरे ने कहा कि समस्या के स्थायी रूप से हल के लिए बीएसपी अपने फिल्टर प्लांट के सिस्टम को आधुनिक तकनीक के मुताबिक करे। कलेक्टर ने कहा कि शुद्घ पेयजल का मुद्दा ऐसा है कि सारे पैरामीटर में पानी की गुणवत्ता खरी उतरनी चाहिए। पानी शुद्घ है तो इसका रंग भी उसी तरह दिखना चाहिए। उन्होंने कहा कि साफ पानी के विषय में शत प्रतिशत रिजल्ट चाहिए, इसमें एक प्रतिशत कमी की भी गुंजाइश नहीं हो सकती।

बीएसपी की दलील-पानी शुद्घ

बैठक में बीएसपी के अधिकारियों ने फिर दलील दी कि टाउनशिप में की जा रही जलापूर्ति पूरी तरह शुद्घ है। पानी के रंग को बेहतर करने को लेकर तकनीकी प्रयास किये जा रहे हैं। जल्द ही स्थिति बेहतर होगी। बैठक में बीएसपी अधिकारियों के साथ ही भिलाई निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी, जलसंसाधन विभाग के कार्यपालन अभियंता सुरेश पांडे, पीएचई के कार्यपालन अभियंता श्री समीर शर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

गंगरेल से मंगाएंगे पानी

बैठक में बीएसपी के अधिकारियों ने बताया कि इसके लिए अन्य तकनीकी प्रयासों के साथ ही गंगरेल से भी पानी मंगाया जाएगा। कलेक्टर ने प्रबंधन से कहा कि शुद्घ पेयजल ऐसा विषय है जिसके लिए आपको त्वरित कार्य करने होंगे। इसके लिए जलसंसाधन विभाग के अधिकारियों से समन्वय कर लें।

-लाकडाउन हटते ही फूट सकता है जनाक्रोश

बीएसपी द्वारा की जा रही जलापूर्ति को लेकर टाउनशिप के रहवासियों में जमकर आक्रोश है। कोरोना काल होने एवं लाकडाउन लगे होने के कारण धरना-प्रदर्शन जैसी स्थिति से बीएसपी प्रबंधन अब तक बचा हुआ है। कई संगठनों व कर्मचारी यूनियनों का आक्रोश चरम पर है। उनका साफ कहना है कि लाकडाउन हटते ही बीएसपी नगर सेवाएं विभाग के कार्यालय में लोगों का आक्रोश फूटेगा।

-अफसरों की लापरवाही

टाउनशिप में मटमैला पानी की आपूर्ति को लेकर बीएसपी लगातार अपनी दलील दे रहा है कि तांदुला से जो पानी मरोदा जलाशय में आया है वह गंदा है। उसकी वजह से ही यह स्थिति बनी है। वहीं बीएसपी कर्मियों का सीधा सवाल है कि तांदुला से जब मरोदा जलाशय में पानी आ रहा था तब उसकी मानिटरिंग करने की जिम्मेदारी किसी की थी अथवा नहीं। जो जिम्मेदार था उसे तत्काल गंदा पानी की आपूर्ति बंद कराने पहल करनी चाहिए थी। आखिर 150 क्यूसेक पानी भरने के बाद बीएसपी प्रबंधन की नींद खुली।

जिम्मेदार पर हो कार्रवाई

डेढ़ माह से गंदे पानी की आपूर्ति से परेशान बीएसपी कर्मचारियों और उनके आश्रित परेशान हो गए हैं। उनका कहना है कि इस पूरे मामले में लापरवाह अधिकारियों पर कार्रवाई होनी चाहिए। अब तक बीएसपी ने किसी तरह की कार्रवाई नहीं की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags