भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के बीआरएम विभाग में सीआइएसएफ के एक सिपाही ने संयंत्र कर्मी की पिटाई कर दी। सिपाही ने कर्मी के थैले की जांच करनी चाही।

रात में सिपाही के पक्ष में सीआइएसएफ के कुछ जवान भी थाना पहुंचे

इसी बात को लेकर दोनों के बीच बहस हुई। घटना की जानकारी लगते ही यूनियन के पदाधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। इसके बाद मामला थाने पहुंच गया और पीड़ित कर्मी ने सिपाही के खिलाफ प्राथमिकी करा दी। रात में कुछ जवान, आरोपित सिपाही के पक्ष में थाना पहुंचे और काउंटर एफआइआर की मांग शुरू कर दी।

संयंत्र के भीतर थैला चेक करने की बात को लेकर हुई बहस

बीएमएस के पदाधिकारियों के मुताबिक संयंत्र कर्मी अमित कुमार वर्मा को शनिवार को बीआरएम विभाग के पास सीआइएसएफ के जवान आरोपित सचिन कुमार ने रोका। कर्मी से गेटपास एवं पास रखे थैले को तलाशी के लिए मांगा। कर्मी अमित कुमार वर्मा ने कहा कि गेट पर तो तलाशी लेते ही हैं क्या हर जगह परेशान करोगे।

इसी बात पर विवाद हो गया। आरोप है कि सीआइएसएफ के जवान ने कर्मी को पीट दिया। अमित कुमार वर्मा की शिकायत के पर भट्ठी पुलिस ने आरोपित सिपाही सचिन कुमार के खिलाफ गाली गलौज, मारपीट और जान से मारने की धमकी देने की धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की है।

भारतीय मजदूर संघ के अध्यक्ष आइपी मिश्रा, कार्यकारी अध्यक्ष चन्नााकेशवलू, महामंत्री रविशंकर सिंह, उपाध्यक्ष एविसन वर्गीस तथा कुलदीप तिवारी ने सेक्टर-9 अस्पताल में उपचार कराने भर्ती हुए कर्मचारी अमित से मुलाकात की। यूनियन नेताओ ने कहा कि सीआइएसएफ का काम संयंत्र की सुरक्षा करना है ना कि लोगों के साथ दुर्व्यवहार करना।

बीएसपी सीआइएसएफ के कमांडेंट एसके वाजपेयी ने कहा, संदेह होने पर जवान ने कर्मचारी से गेटपास मांगा और उसके पास रखे थैला की जांच कराने कहा। इस दौरान कर्मचारी ने गेटपास नहीं दिखाया, उसके द्वारा जवान एवं इंसपेक्टर से अभद्रता करते हुए गाली गलौच की गई। इससे विवाद हो गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close