भिलाई (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शादी के बाद दहेज और बेटा न होने की बात को लेकर विवाहिता से क्रूरतापूर्वक व्यवहार करने वाले आरोपित पति, सास और देवर के खिलाफ महिला थाना पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की है। विवाहिता का आरोप है कि उसके पति का दूसरी महिला से अवैध संबंध है। बहुत ज्यादा प्रताड़ित किए जाने पर दो बार सामाजिक बैठक हुई, जिसमें आरोपित ने फिर से प्रताड़ित न करने की बात कही, लेकिन वे नहीं माने। साल भर पहले आरोपित पति ने शिकायतकर्ता को चरोदा में किराये के मकान में लेकर रहने लगा और वहां भी अपनी प्रेमिका से फोन पर बात करता था। दिसंबर में आरोपित कुछ काम होने की बात कहकर अपने गांव गया और वापस ही नहीं लौटा। इसके बाद विवाहिता ने महिला थाना में शिकायत की। जिस पर पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

पुलिस ने बताया कि आदित्य नगर दुर्ग में अपने मायके में रह रही विवाहिता ने तेलांगना महबूबाबाद निवासी अपने पति टी समैय्या, सास टी यल्लम्मा और देवर टी सरैय्या के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। 16 नवंबर 2012 को महिला की शादी आरोपित से हुई थी। शादी के बाद वो अपने ससुराल गई। जहां आरोपितों ने उसे दहेज में कम सामान लाने की बात कहकर प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। फरवरी 2013 में शिकायतकर्ता पहली बार गर्भवती हुई तो आरोपितों ने कहा कि उन्हें बेटा ही चाहिए। उसने अपने मायके में एक बेटी को जन्म दिया तो आरोपित इससे नाराज हो गए और एक लाख रुपये की मांग करने लगे। रुपये न मिलने पर वे नौ महीने तक उसे लेने नहीं आए। काफी समझाने पर आरोपित उसे लेकर गए। ससुराल जाने के बाद विवाहिता दो बार और गर्भवती हुई, लेकिन आरोपितों ने लिंग जांच करवाकर उसका गर्भपात करवा दिया। वर्ष 2018 में महिला ने फिर से एक बेटी को जन्म दिया तो आरोपित उससे नाराज हो गए और उससे काफी ज्यादा दुर्व्यवहार करने लगे। आरोपितों ने एक योजना बनाकर शिकायतकर्ता और उसके पति को चरोदा में रहने के लिए भेजा। वहां कुछ दिनों तक साथ रहने के बाद आरोपित पति उसे छोड़कर भाग गया।

बाक्स... दो अन्य मामलों में दर्ज हुई प्राथमिकी

महिला थाना में एक अन्य महिला ने अपने पति माडलटाउन निवासी बादल कुमार बोदलेकर और सास संध्यारानी बोदलेकर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। पुलिस ने बताया कि महिला ने 27 अगस्त 2008 को आरोपित से कोर्ट मैरिज की थी। शादी के बाद वो अपने ससुराल गई तो उसकी सास ने उसे ताना मारना शुरू कर दिया और बोलने लगी कि उसके बेटे की सामाजिक लड़की से शादी हुई होती तो काफी दहेज मिलता। आरोपित पति भी शादी के दो साल बाद शराब पीकर उससे मारपीट करने लगा। दो साल बाद ही उसने एक बेटे को जन्म दिया, लेकिन आरोपित उससे कोई संबंध नहीं रखते थे। बहुत ज्यादा मारपीट किए जाने पर शिकायतकर्ता ने वर्ष 2014 में आरोपित पति के खिलाफ मारपीट की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। जिस पर आरोपित दो दिनों के लिए जेल गया था और वहां से वापस लौटकर फिर से मारपीट करने लगा। पांच दिसंबर 2019 को आरोपित पति ने मारपीट कर महिला और उसके बेटे को घर से निकाल दिया। जिसके बाद वो अपने मायके गई और महिला थाना में शिकायत की। पुलिस ने दोनों पक्षों के बीच काउंसलिंग की, लेकिन समझौता न होने पर आरोपितों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

इसके अलावा छावनी पुलिस ने एक मामले में प्राथमिकी दर्ज कराई है। शारदा पारा कैंप-2 निवासी विवाहिता ने डोंगरगांव जिला राजनांदगांव निवासी अपने पति परमानंद साहू, ससुर बसंत साहू और सास टूमन बाई साहू के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। पुलिस ने बताया कि 14 फरवरी 2020 को सामाजिक प्रथा के अनुसार आरोपित ने शिकायतकर्ता को चूड़ी पहनाकर उससे शादी की थी। शादी के बाद उसे वो अपने साथ लेकर डोंगरगांव गया। कुछ दिनों बाद ही आरोपित पति ने शराब पीकर उससे मारपीट शुरू कर दिया। आरोपित सास और ससुर ने भी शादी में कुछ न लाने की बात कहकर उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। इसके बाद आरोपितों ने उसे घर से निकाल दिया। विवाहिता ने राजनांदगांव के महिला प्रकोष्ठ में इसकी शिकायत की। वहां दोनों पक्षों के बीच काउंसलिंग भी हुई, लेकिन समझौता न होने पर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस