टी.सूर्याराव, भिलाई। Chhattisgarh News: पाकिस्तान से रिश्ता खराब हुआ तो धमधा के टमाटर की बांग्लादेश में आपूर्ति बढ़ गई है। धमधा से इस समय बांग्लादेश के लिए दो लाख टन टमाटर की आपूर्ति की जा रही है। इसके पूर्व पाकिस्तान को भी धमधा से दिल्ली के रास्ते टमाटर की आपूर्ति की जाती थी। जिसे बंद कर दिया गया है। दुर्ग जिले के 5000 एकड़ में टमाटर की फसल ली जाती है, अकेले धमधा क्षेत्र के किसान 3000 एकड़ में टमाटर की फसल ले रहे है। देश के बाहर टमाटर बेचकर धमधा के किसान खुशहाल हो रहे है।

दुर्ग जिले के धमधा ब्लाक क्षेत्र में उन्नत खेती हो रही है। इस क्षेत्र के किसान जिले के अन्य क्षेत्र की तुलना में कहीं ज्यादा टमाटर का उत्पादन कर रहे हैं। यहां से प्रतिवर्ष दो लाख टन टमाटर धमधा क्षेत्र से दिल्ली के रास्ते बांग्लादेश भेजा जा रहा है। वर्तमान में पूरे दुर्ग जिले में पांच हजार एकड़ क्षेत्र में किसान टमाटर की फसल लेते हैं। क्षेत्र के किसान रबी और खरीफ दोनों मौसम में टमाटर की फसल ले रहे हैं।

क्या आप जानते हैं दुर्ग जिले के धमधा क्षेत्र में होने वाले टमाटर का स्वाद बांग्लादेशी ले रहे हैं। धमधा क्षेत्र से प्रतिवर्ष दिल्ली के रास्ते दो लाख टमाटर भेजा जाता है। धमधा से इन टमाटरों को ट्रकों में भरकर सड़क मार्ग से दिल्ली के व्यापारी ले जाते हैं। वहां से फिर बांग्लादेश को भेजते हैं। प्रतिवर्ष अकेले दुर्ग जिले में ही 5000 एकड़ में किसान टमाटर की फसल ले रहे हैं।

इनमें कई किसानों को प्रति हेक्टेयर 20 हजार रुपये प्रतिवर्ष अनुदान भी दिया जाता है। धमधा क्षेत्र के व्यापारी रीतेश टांक बताते हैं कि प्रतिवर्ष दिल्ली के व्यापारी हमसे संपर्क करते हैं। उन्हें हम 4 से लेकर 10 रुपये किलो तक टमाटर की आपूर्ति करते हैं। दिल्ली से आने वाले व्यापारी बताते हैं कि धमधा के टमाटर को वे पाकिस्तान भी भेजते थे, लेकिन अब नहीं भेजते। भारत सरकार ने पाकिस्तान को टमाटर भेजने पर रोक लगा दी है।

दुर्ग जिले में रबी और खरीफ दोनों ही सीजन में 5000 एकड़ में टमाटर की खेती होती है। किसानों को सरकार सब्सिडी भी देती है। दिल्ली के व्यापारी धमधा के टमाटर को ले जाते हैं। वहां से विदेशों को भेजते है।

- सुरेश ठाकुर, उपसंचालक उद्यानिकी, दुर्ग

धमधा से हम प्रतिवर्ष करीब दो लाख टन टमाटर की खरीदी करते हैं। इस टमाटर को बांग्लादेश भेजा जाता है।

- रोहित कुमार, व्यापारी केशवपुर मंडी, दिल्ली

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस