भिलाई (नईदुनिया प्रतिनिधि)। राजभाषा कार्यान्वयन समिति, भिलाई-दुर्ग को राजभाषा हिंदी में श्रेष्ठ कार्य के लिए भारत सरकार, गृह मंत्रालय, राजभाषा विभाग, मध्य क्षेत्र भोपाल द्वारा घोषित वर्ष 2017-18 के लिए प्रथम पुरस्कार तथा वर्ष 2018-19 के लिए तृतीय पुरस्कार मिला। यह पुरस्कार शुक्रवार को रवीन्द्र भवन, कल्चरल सेन्टर, मड़गांव, गोवा में आयोजित मध्य एवं पश्चिम क्षेत्र के एक दिवसीय संयुक्त क्षेत्रीय राजभाषा सम्मेलन में दिया गया। भिलाई इस्पात संयंत्र के कार्यपालक निदेशक (कार्मिक एवं प्रशासन) सुरेश कुमार दुबे ने पुरस्कार ग्रहण किया।

आयोजन में राजभाषा कार्यान्वयन समिति, भिलाई-दुर्ग सचिवालय द्वारा किए जा रहे सराहनीय कार्यों के लिए समिति के सचिव, उप महाप्रबंधक (संपर्क व प्रशासन एवं प्रभारी राजभाषा) सौमिक डे को राजभाषा के प्रगामी प्रयोग को प्रोत्साहन की दिशा में उत्कृष्ट योगदान के लिए प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। यह पुरस्कार समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा द्वारा प्रदान किया गया। इस अवसर पर राजभाषा विभाग की सचिव अंषुल आर्य तथा संयुक्त सचिव डा मीनाक्षी जाली उपस्थित थी।

उल्लेखनीय है कि भिलाई-दुर्ग स्थित भारत सरकार के कार्यालयों, उपक्रमों, बैंकों एवं बीमा कंपनियों में हिंदी कार्यान्वयन को सुदृढ़ करने के लिए गृह मंत्रालय, राजभाषा विभाग द्वारा नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति, भिलाई-दुर्ग की स्थापना वर्ष 1985 में हुई। इसके बाद से अब तक समिति के सदस्य संस्थानों द्वारा हिंदी में निरंतर बेहतर कामकाज किया जा रहा है। समिति में दुर्ग-भिलाई क्षेत्र में स्थित सार्वजनिक क्षेत्र के समस्त उपक्रम, केंद्र सरकार के कार्यालय, बैंक, बीमा आदि कुल 48 सदस्य संस्थान हैं। इस समिति का सचिवालय भिलाई इस्पात संयंत्र है, जिसके अध्यक्ष बीएसपी के निदेशक प्रभारी अनिर्बान दासगुप्ता हैं। इस समिति के सचिव उप महाप्रबंधक भिलाई इस्पात संयंत्र सौमिक डे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local