भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के कोक ओवन बैटरी नंबर- 10 का कोल्ड रिपेयर आंतरिक संसाधनों से किया गया। इस प्रकार के रिपेयर आम तौर पर रशियन कार्य पद्धति के तहत निष्पादित की जाती है। इस बार यह कार्य बीएसपी के विभिन्ना शाप्स के आंतरिक संसाधनों द्वारा पूर्ण किया गया।

इस कोल्ड रिपेयर से 22 साल पुराने बैटरी की आयु 12 साल बढ़ गई है। इस बैटरी में कोक को 800 डिग्री तापमान तक हीट कर उसे हाट मेटल निर्माण में उपयोग किया जाता है।

बीएसपी के बैटरी नंबर-10 को पांच नवंबर 1996 से चालू किया गया था। लगभग 22 वर्षों तक सेवा देने के बाद इस बैटरी की कोल्ड रिपेयर का काम शुरू किया गया था। मरम्मत कार्य पूरा होने के बाद बीते दो जून को 120 दिनों के लिए बैटरी को हीटिंग के तहत रखा गया था।

लगभग 1100 डिग्री सेंटीग्रेड के आवश्यक तापमान को प्राप्त करने के बाद, बैटरी को छह दिसंबर को चार्ज किया गया और ओवन पुशिंग का उद्घाटन निदेशक सेल, कृष्ण कुमार गुप्ता एवं एन शंकरप्पा द्वारा सात दिसंबर को बीएसपी के निदेशक प्रभारी अनिर्बान दासगुप्ता व कार्यपालक निदेशकगणों, मुख्य महाप्रबंधकों और संयंत्र के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में किया गया। सीजीएम (सीओ एंड सीसीडी) जी अचुता राव एवं कोकओवन बिरादरी द्वारा गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत व जानकारी दी गई।

यह रहा खास

पहली बार आंतरिक संसाधनों व विशेषज्ञता के साथ सात मीटर लंबी बैटरी की कोल्ड रिपेयर के कार्य को अंजाम दिया गया। इस कार्य में मौजूदा बैटरी मशीनों व कोक वार्फ आदि के नवीनीकरण के प्रमुख मरम्मत कार्यों के साथ-साथ लगभग 21,000 मीट्रिक टन रिफ्रेक्टरी ब्रिक्स, 6300 मीट्रिक टन यांत्रिक उपकरण व लगभग 670 घन मीटर सिविल कार्य का प्रतिस्थापन कार्य भी शामिल है।

इस कोल्ड रिपेयर के बाद कोक ओवन बैटरी नंबर-10 के जीवनकाल को 10 से 12 वर्ष के लिए बढ़ाया जा सका। इस प्रकार के रिपेयर आम तौर पर रशियन कार्य पद्धति के तहत निष्पादित की जाती है, परन्तु इस बार यह कार्य विभिन्ना शाप्स के आंतरिक संसाधनों द्वारा पूर्ण किया गया।

यह कार्य कोक ओवन (सीआरजी, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल मेंटनेंस, हीटिंग व रेगुलेशन) की टीम तथा संबंधित विभागों जैसे इंस्ट्रुमेंटेशन, सिविल द्वारा सीजीएम (सीओ एंड सीसीडी) जी अचुता राव के नेतृत्व में किया गया। बीएसपी में भिलाई प्रवास पर आये अतिथि निदेशकों द्वारा कार्य उपलब्धियों, रणनीति तथा योजना निष्पादन की सराहना की गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local