भिलाई। मौसम का मिजाज नर्म गर्म हो रहा है। कभी तेज धूप तो कभी बदली। कभी अंधड़ के साथ बारिश। मौसम विज्ञान की माने तो अभी जून तक मौसम ऐसा ही रहेगा। इस मौसम ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। दरअसल लोग तेजी से सर्दी खांसी की चपेट में आते जा रहे हैं। ऐसे मौसम में डाक्टरों ने लोगों को सावधान रहने की सलाह दी है।

बता दें कि मई व जून में मौसम में परिवर्तन होता है। मौसम परिवर्तन लोगों के सेहत पर असर डालता है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भिलाई तीन में ऐसे मरीजों की संख्या दो गुनी हो गई है। पहले जहां रोजाना सर्दी जुकाम के 10 से 20 मरीज आते थे, वहीं अब इसकी संख्या बढ़कर 20 से 30 तक पहुंच गई है।

सुपेला अस्पताल के प्रभारी डा. पीयम सिंह बताते हैं कि बीते एक सप्ताह से स्थिति बदली है। मौसम के अचानक नर्म गर्म होने से लोगों की सेहत खराब हो रही है। सुपेला अस्पताल में ऐसे मरीजों की संख्या दिनों दिन बढ़ रही है। बुधवार को 125 मरीज सर्दी जुकाम तथा वायरल फीवर के आए थे। जबकि सप्ताह भर पहले तक 50 के आसपास की संख्या रहती थी। डा.पीयम सिंह, प्रभारी सरकारी अस्पताल सुपेला ने कहा कि सर्दी खांसी के मरीजों की संख्या बढ़ी है। इसका कारण बार बार बदलता मौसम है। लोगों को सावधानी बरतने की जरूरत है।

रहें सावधान

डाक्टरों ने ऐसे मौसम में सावधान रहने की सलाह दी है। मसलन सुबह नियमित योगा या कसरत। ताजा भोजन। ज्यादा ठंड पानी सेहत को नुकसान पहुंच सकता है। इस मौसम में गुनगुना पानी पीने की सलाह डाक्टर दे रहे हैं। डाक्टर यह भी कह रहे हैं कि यदि सर्दी जुकाम या सर दर्द हो तो सीधे मेडिकल से दवा लेकर खाने के बजाए एक बार डाक्टर को जरुर दिखा ले। यह मौसम बुजुर्गों व बधाों के लिए ज्यादा नुकसान दायक है। जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है, वह लोग जल्दी मौसम परिवर्तन की चपेट में आते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close