भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के ब्लास्ट फर्नेस - 4 में काम करने वाले ठेका श्रमिक 45 की बड़ी संख्या में अपनी समस्याओं के संबंध में भिलाई इस्पात मजदूर संघ के नेता मिलने पहुंचे। उन्होंने बताया की वह लोग बिंदु कंस्ट्रक्शन कंपनी के ठेका श्रमिक है।

उन्हें ठेकेदार द्वारा कम पेमेंट, जूता एवं दस्ताना जिसे महीने में एक बार देना चाहिए। उसे भी 2 महीने में दिया जाता है पेमेंट भी अनियमित तरीके से किया जाता है। साथी पेमेंट स्लिप ना देने के कारण किस प्रकार से भुगतान किया जा रहा है।

यह भी समझ से बाहर है। भिलाई इस्पात मजदूर संघ को पूरे संयंत्र से लगातार ठेका श्रमिकों को कम वेतन की शिकायतें एवं बेसिक सुविधाओं की कमी कि शिकायतें मिल रहे हैं और इस संबंध में संगठन के पदाधिकारी सभी विभागों से जानकारी एकत्रित कर रहे हैं तथा उस आधार पर ठेकेदार से मिलकर कम वेतन जैसी समस्याओं को सुलझाने की कोशिश की जा रही है।

साथ ही इस संबंध में पूरी जानकारी एकत्रित होने के बाद ईडी (वर्क्स) से मुलाकात कर उन्हें अवगत करवाया जाएगा । भारतीय मजदूर संघ संयंत्र में चल रहे इस प्रकार के शोषण के खिलाफ चाहे नियमित कर्मचारी हो या ठेका श्रमिक हर मुद्दे पर उनके साथ खड़ा होकर उनके हक की लड़ाई के लिए संघर्ष करता रहेगा।

कर्मचारियों का फाइनल बेसिक तथा एरियर्स भुगतान का डाटा आज इंट्रा नेट पर डाला गया। स्केल ओपन एंडेड नहीं होने के कारण साफ तौर से हर कर्मचारी का महीने का हजारों तथा सर्विस पीरियड मैं लाखों का नुकसान अलग से दिख रहा है सवाल यह है कि तीन यूनियन जिन्होंने साइन किया है।

लाखों रुपये का नुकसान जो कर्मचारियों का हुआ है। उसकी जिम्मेदारी लेने की बजाएं ऐतिहासिक समझौता बताकर दुखी कर्मचारी का मजाक उड़ा रहे हैं। आज ठेका श्रमिक सभी 45 साथियों ने भारतीय मजदूर संघ के विचारों से प्रभावित होकर यूनियन की सदस्यता पर्ची कटवाकर ली।

इस मौके पर अध्यक्ष आइपी मिश्रा वरिष्ठ श्रमिक नेता आरके पांडेय, उमेश मिश्रा संयुक्त महामंत्री अशोक कुमार माहौर, प्रदीप पाल सचिव विभास सिन्हा, भूपेंद्र बंजारे आदि उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local