Crime In Bhilai: भिलाई (नईदुनिया प्रतिनिधि)। हत्या के मामले में जेल से छूटने के बाद एक किन्नर ने एक अन्य किन्नर पर हमला कर दिया। आरोपित किन्नर, पीड़ित के घर पर रुकने के लिए गया था। रात में ही उसने हमला किया और उसे घर में बंदकर फरार हो गया। घटना की शिकायत पर मोहन नगर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। लेकिन, अभी तक आरोपित की गिरफ्तारी नहीं की जा सकी है। किन्नर समुदाय के लोगों ने पुलिस से मिलकर आरोपित के खिलाफ हत्या का प्रयास की धारा जोड़कर उसे गिरफ्तार करने की मांग की है।

पुलिस के मुताबिक आरोपित शंकर बुंदे उर्फ काजल किन्नर ने बीते 14 अगस्त की रात को उरला निवासी खुशबु किन्नर को मारकर उसे बुरी तरह से घायल कर दिया। आरोपित शंकर बुंदे उर्फ काजल किन्नर अपने ही गुरु सोनू सारथी उर्फ छाया किन्नर की हत्या के आरोप में वर्ष 2009 में जेल गया था। लेकिन, साक्ष्य के अभाव में 12 अगस्त को वो जेल से बरी हो गया था। जेल से छूटने के बाद वो 14 अगस्त को खुशबु किन्नर के घर गया। वहां उसने रात में रुकने के लिए शरण मांगी।

खुशबु ने उसे रात में अपने घर पर रुकने दिया। रात में ही आरोपित ने उसकी आंंख में मिर्च झोंककर उसके सिर पर डंडे से वार कर दिया और घर में बंदकर फरार हो गया। अभी तक घटना का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। पीड़ित खुशबु किन्नर अभी बयान देने की स्थिति में है। इसलिए कारण का पता नहीं चल सका है। आरोपित की गिरफ्तारी न होने पर संघर्ष एक जीवन संस्था की अध्यक्ष व तृतीय लिंग कल्याण बोर्ड की सदस्य कंचन सेंदरे ने पुलिस से मुलाकात कर आरोपित के खिलाफ हत्या के प्रयास की धारा के तहत कार्रवाई करने और उसे गिरफ्तार करने की मांग की है।

बच्चा चोरी के आरोप में जेल गया पीड़ित

यहां उल्लेखनीय है कि घटना का पीड़ित खुशबु किन्नर भी बच्चा चोरी के अपराध में जेल जा चुका है। जेल में खुशबु और आरोपित शंकर बुंदे उर्फ काजल किन्नर एक साथ ही जेल में थे। खुशबु किन्नर पहले जेल से छूट गया था। वहीं शंकर बुंदे उर्फ काजल किन्नर 12 अगस्त को हत्या के आरोप में बरी हुआ था। बरी होने के पहले वो सात जुलाई 2021 को जेल प्रहरियों को चकमा देकर जिला अस्पताल सेे भाग गया था। उसे नौ जुलाई को नागपुर से गिरफ्तार किया गया था। अभिरक्षा से फरार होने के मामले में उसे न्यायालय ने जमानत दिया है।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local