भिलाई। BSP News: कोरोनाकाल में एक ओर जहां सारी परीक्षाएं रद कर दी जा रही हैं वहीं दूसरी ओर भिलाई इस्पात संयंत्र की सीएसआर विभाग ने होनहारों के चयन के लिए शुक्रवार को सेक्टर-2 स्थित बीएसपी स्कूल में परीक्षा ली। हालांकि प्रबंधन का कहना है कियह केवल स्क्रीनिंग थी और 28 बच्चों को कोरोना नियमों का पालन कराते हुए तीन कमरों में बिठाया गया था। कोरोना की तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच इस तरह बच्चों को क्लास में बुलाने व परीक्षा लेने को लेकर सवाल उठने लगे हैं।

पालकों ने भी इसे लेकर सवाल उठाए हैं और नईदुनिया को इसकी शिकायत भी की।भिलाई इस्पात संयंत्र द्वारा हर वर्ष दसवी की परीक्षा में बेहतर अंक हासिल करने वाले जरूरतमंद दस बच्चों को गोद लेकर उन्हें कक्षा 11वीं एवं 12 वीं की शिक्षा दी जाती है। इसके अलावा उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए भी तैयार किया जाता है।

यह कार्य बीएसपी द्वारा सीएसआर (सामाजिक निगमित उत्तदायित्व) के तहत किया जाता है और संयंत्र एवं दल्ली माइंस क्षेत्र के आसपास के गांव के बच्चों को लिया जाता है। इस वर्ष भी दस होनहार बच्च्‌चों का चयन किया जाना है। कोरोनाकाल के दौरान तीसरी लहर की आशंका के बीच जहां सारी छोटी बड़ी परीक्षाएं रद की जा रही है और स्कूल में कक्षाएं आनलाइन व मोहल्ला क्लास के रूप में संचालित हो रही हैं।

वहीं इन सबके बीच आज बीएसपी के सीएसआर विभाग द्वारा बीएसपी स्कूल सेक्टर-2 में होनहार बच्चों के चयन के लिए परीक्षा आयोजित की गई थी। कुल 28 बच्चे इस परीक्षा में शामिल हुए। इस दौरान बच्चों के पालकों की भीड़ भी लगी हुई थी। कोरोना काल में इस तरह परीक्षा लिए जाने पर स्वयं पालकों ने ही इसकी शिकायत की। उनका कहना था किजहां तीसरी लहर में बच्चों के ही सर्वाधिक प्रभावित होने की आशंका है वहीं बीएसपी प्रबंधन इस तरह बच्चों की जान जोखिम में डाल रहा है।

बीएसपी प्रबंधन ने यह कहा

इस पूरे मामले में बीएसपी जनसंपर्क विभाग का कहना है किकोरोना की वजह से इस वर्ष कक्षा 10 वीं के बच्चों को जो औसत आधार पर अंक दिया गया है इससे प्रावीण्यता के आधार पर चयन में दिक्कत आ रही थी। इसे देखते हुए जिलाशिक्षा अधिकारी को जानकारी देते हुए आज 28 बच्चों को स्क्रीनिंग के लिए बुलाया गया था, इस दौरान जिला शिक्षा विभाग के कोरोना नियमों का पालन करते हुए तीन कमरों में बच्चों को बिठाया गया था, वहीं पालकों के लिए बाहर बरामदे में शारीरिक दूरियों का पालन करते हुए बैठने की व्यवस्था की गई थी। वर्तमान शैक्षणिक सत्र प्रारंभ हो गया है, ऐसे में होनहार स्कीम के बच्चों के सत्र में भी विलंब हो रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags