भिलाई। भिलाई इस्पात मजदूर संघ की पदाधिकारियों तथा कार्यकारिणी सदस्यों ने वेज रिवीजन तथा स्थानीय मुद्दों को उठाते हुए संयंत्र के इस्पात भवन में कर्मचारियों से संपर्क कर अभियान की शुरुआत कर दी। मान्यता चुनाव को देखते हुए अपने संपर्क के दौरान पदाकिारियों ने बताया कि कर्मचारियों को लगातार नुकसान हो रहा है।

पदाधिकारियों ने कहा कि 39 महीने का एरियर, एचआरए, एचआरआर, पर्क में अंतर, स्केल ओपन एंडेड ना होना, ग्रेच्युटी सीलिंग, अस्पताल में अव्यवस्था, दवा और डाक्टरों का अभाव आदि मुद्दों पर पदाधिकारियों ने विस्तार से चर्चा की। पदाधिकारियों ने कर्मचारियों को बताया कि भारतीय मजदूर संघ शुरू से ही इस प्रकार के वेज रिवीजन के पक्ष में नहीं था। हमारी एक ही मांग की कि पहले अधिकारियों का एग्रीमेंट कर लो उसके बाद कर्मचारियों का, जो अधिकारियों को देंगे वह कर्मचारियों को दे देना। भारतीय मजदूर संघ आपसे आज भी वादा करती है की हम फाइनल एग्रीमेंट पर तभी साइन करेंगे जब प्रबंधन हमारी मांगों को स्वीकार कर लेगी अन्यथा हम आगे की कार्यवाही के लिए स्वतंत्र है। आज अभियान के दौरान कार्यकारी अध्यक्ष चन्नाा केशवलू, सोम भारती रामजी सिंह शारदा गुप्ता अशोक माहौर कैलाश सिंह एविशन वर्गीस, धनंजय चतुर्वेदी, प्रदीप पाल, जगजीत सिंह, कृष्णा साहू, सुरेंद्र चौहान, सुधीर गरेवाल, पूरन साहू प्रकाश अग्रवाल, नवनीत हरदैल, अवधेश पांडे, आर के पांडे, राज नारायण, अजय सिंह धुर्वे, अनुराग महुलकर, प्रमोद राय, एलपी दीक्षित आदि थे।

---

सुरक्षा के लिए प्रेरित करेंगे 21 लीड ट्रेनर

भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र द्वारा सुरक्षा संस्कृति को बढ़ाने की दिशा में समेकित प्रयास किया जा रहा है। सुरक्षा सजगता कार्यक्रम का आयोजन गैर कार्यपालकों व ठेका श्रमिकों के लिए एक उन्नात सुरक्षा संस्कृति बनाने की दिशा में विकसित किया गया है।

कर्मचारियों को शाप फ्लोर पर सुरक्षा सजगता प्रशिक्षण देने के लिए बीएसपी में अब ट्रेन द ट्रेनर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। एक कठोर मूल्यांकन प्रक्रिया के बाद 21 प्रतिभागियों ने हाल ही में प्रमुख प्रशिक्षकों के रूप में अर्हता प्राप्त की। इन 21 लीड ट्रेनर को प्रमाण पत्र का वितरण किया गया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि कार्यपालक निदेशक केके सिंह तथा विशेष अतिथि के रूप में मुख्य महाप्रबंधक पीके झा, कार्यवाहक मुख्य महाप्रबंधक जीपी सिंह उपस्थित थे। इस अवसर पर काम्पेटेन्स सीएफटी लीडर के रूप में ईडी (पीएंडए), केके सिंह एवं सदस्य के रूप में सीजीएम पी के झा ने इन लीड प्रशिक्षकों को प्रमाण पत्र प्रदान किया।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि कार्यवाहक मुख्य महाप्रबंधक जी पी सिंह भी उपस्थित रहे। केके सिंह ने इन प्रशिक्षकों को सुरक्षा अभियान के प्रमुख सूत्रधार निरूपित करते हुए उनके महती भूमिका पर प्रकाश डाला। प्रतिभागियों ने शून्य दुर्घटनाओं की दिशा में काम करने की संस्कृति बनाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई।

---

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close