भिलाई। दूसरे की जमीन दिखाकर 70 लाख रुपये की ठगी करने वाले आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दो आरोपित फरार है। गिरफ्तार आरोपित ने कोर्ट में सरेंडर किया था। जहां से उतई पुलिस ने उसे रिमांड पर ले लिया है। उतई पुलिस के मुताबिक सेक्टर-9 निवासी आतिक हुसैन ने 14 नवंबर 2018 को नेहरू नगर निवासी नागेंद्र मोहन जैन तथा उसके दो पुत्र निर्भय जैन व समर्पण जैन के खिलाफ धोखाधड़ी की लिखित शिकायत की थी। बताया था कि तीनों ने पतोरा में दूसरे की जमीन दिखाकर उससे 69 लाख 75 हजार रुपये ऐंठ लिया है। जांच उपरांत पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी थी। मुख्य आरोपित निर्भर जैन ने बीते 14 अक्टूबर को कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। जहां से उतई पुलिस ने उसे 16 अक्टूबर तक रिमांड पर ले लिया है।

ये है मामला

पतोरा पेट्रोल पंप के पास पुरऊ राम, सूरजा बाई तथा मानसिंह के नाम पर खसरा नंबर 492-1, 492-1,490, 498 में जमीन है। आरोपितों ने इस जमीन को अपना बताते हुए सेक्टर -9 निवासी आतिक हुसैन व उनकी पत्नी खजिस्ता हुसैन से 59 लाख 75 हजार रुपये में सौदा किया। इस जमीन का कूटरचित दस्तावेज तैयार कर पुसऊराम, सूरजा बाई तथा मानसिंह की जगह किसी अन्य लोगों को खड़ा कर रजिस्ट्री भी करा लिया गया।

इस तरह कुल 69 लाख 75 हजार रुपये ले लिए। बाद में जब जमीन दिखाने की बात हुई तो आरोपित टालमटोल करने लगे। इस बात पर आतिक हुसैन को संदेह हुआ। उन्होंने मौके प जाकर पता किया तो पता चला कि जिस जमीन को निर्भय जैन व अन्य आरोपी अपना बता रहे हैं वह किसी और के नाम पर है।

आतिक हुसैन ने उतई थाने में इसकी लिखित शिकायत की। पुलिस ने जांच में मामला सहीं पाया। लिहाजा तीनों आरोपितों के खिलाफ धारा 491, 420, 467, 468, 471, 120 बी, 34 के तहत मामला दर्ज किया।

कोर्ट में किया सरेंडर

उतई थाने में मामला दर्ज किए जाने की भनक लगते ही तीनों आरोपित फरार हो गए। पुलिस ने इनकी तलाश तेज कर दी। 14 अक्टूबर को उतई थाना पुलिस को पता चला कि ठगी का मुख्य आरोपित निर्भय जैन ने जेएमएफसी कोर्ट दुर्ग में सरेंडर कर दिया। उतई पुलिस ने न्यायालय के समक्ष प्रकरण से संबंधित फाइल प्रस्तुत कर आरोपित को 16 अक्टूबर तक रिमांड पर ले लिया। उतई पुलिस के मुताबिक अन्य दो आरोपितों की तलाश जारी है।

Posted By: Nai Dunia News Network