भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के स्टील मेल्टिंग शाप-3 (एसएमएस - 3) में बीते गुरुवार दोपहर साढ़े तीन बजे भीषण आग लग गई। यहां पर 180 टन पिघला लोहा (हाट मेटल) लेकर जा रहा लेडल फट गया। जिससे पिघला लोहा पानी की तरह वह बहने लगा और सभी तरफ आग लग गई। घटना में कोई हताहत नहीं हुआ, जबकि बीएसपी को क

रोड़ों रुपए की क्षति होने का अनुमान है। यहां पर फर्नेस तक बिछाया गया इलेक्ट्रिक केबल जलकर राख हो गया। यही नहीं आरएच डिगेसर में भी आग लग गई। आग की घटना इतनी भयंकर थी कि पूरे प्लांट में खलबली मच गई। फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियों को आग बुझाने में लगाया गया। अकेले प्लेट मिल फायर स्टेशन से तीन गाड़ियां भेजी गई। इसकी जानकारी के बाद विभाग के उच्च अधिकारी भी वहां पहुंच गए थे। घटना की विभागीय जांच शुरू कर दी गई है। वहीं अब तक मरम्मत कार्य जारी है।

रिफेक्ट्री मटेरियल को लेकर सवाल उठे

एसएमएस -3 में लेडल के तल की लाइनिंग करने में जिस तरह के मटेरियल का उपयोग किया जा रहा है वह काफी निम्न स्तर का बताया जा रहा है। यहां पर काम कर रही एजेंसी की मिलीभगत से अफसर इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। बताया जाता है कि जिस लेडल को 40 बार चलना चाहिए। वह सात से आइ बार में ही पंचर हो जा रहा है। ठेका एजेंसी की लापरवाही के बावजूद बीएसपी के अफसर आंख मूंदे बैठे हुए हैं।

15 से 20 दिनों तक नहीं बन पाएगा ब्लूम

भिलाई इस्पात संयंत्र के यूनिवर्सल रेलव मिल में उपयोग में लाए जाने वाले ब्लूम का उत्पादन बंद हो गया है। एसएमएस-3 के कर्मचारियों ने बताया कि 15 से 20 दिनों तक यहां पर उत्पादन ठप रहेगा। इसकी वजह से यूआरएम को प्रतिदिन भेजने वाला ब्लूम नहीं भेजा जा सकेगा। हालांकि बीएसपी के पास पूर्व से स्टाक होने की वजह से उसके उत्पादन में इसका उतना असर नहीं पड़ेगा, जितना कि पढ़ना चाहिए। बावजूद इसके अफसरों की लापरवाही के कारण हुई इतनी बड़ी घटना को प्रबंधन ने गंभीरता से नहीं लिया है। अब तक किसी भी अफसर के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close