भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के कर्मचारी संगठन स्टील वर्क्स यूनियन के महासचिव खूबचंद वर्मा ने एनजेसीएस यूनियन सहित अन्य यूनियन के प्रतिनिधियों पर निर्णय लेने के बावजूद यू टर्न लेने पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने दो टूक कहा कि ऐसे नेताओं के कारण ही कर्मचारियों का वेतन समझौता अब तक नहीं हो पाया है। यह दुर्भाग्यजनक है।

स्टील वर्क्स यूनियन के महासचिव खूबचंद वर्मा ने आरोप लगाया कि गुरुवार को इंटक कार्यालय में संयुक्त यूनियन की बैठक हुई थी। इसमें ही तय किया गया था कि जब वेतन समझौता पर हड़ताल तय हो गया है तो सेल चेयरमैन से भिलाई प्रवास के दौरान मुलाकात करने का औचित्य ही क्या है।

वर्मा ने बताया कि इस बैठक में एनजेसीएस में शामिल सभी पांच यूनियन इंटक, सीटू, बीएमएस, एचएमएस और एटक के अलावा एक्टू, इस्पात श्रमिक मंच, स्टील वर्क्स यूनियन व लोईमू आदि यूनियन के प्रतिनिधि मौजूद थे। इन सभी के प्रतिनिधियों ने सभी बिंदुओं पर गंभीर मंथन के बाद ही निर्णय लिया था।

यह निर्णय कर्मचारियों के हित में था। परन्तु निर्णय के दूसरे दिन ही कर्मचारी नेताओं के सुर बदल गए। वे चेयरमैन से मिलने लालायित हो गए और इस संबंध में संयुक्त बैठक कर निर्णय को पलट दिया।

वर्मा ने आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसे कर्मचारी नेताओं की वजह से ही भिलाई इस्पात संयंत्र में कर्मचारियों को उनका हक नहीं मिल पा रहा है। कर्मचारी चार साल से वेतन समझौता का इंतजार कर रहे हैं।

वर्मा ने कहा कि सेल चेयरमैन से आज मुलाकात का समय पूर्व में तय था किंतु यूनियन नेताओं के विरोध की वजह से इसमें कुछ फेरबदल भी हुआ। अब कर्मचारी नेताओं ने यू टर्न लेते हुए मुलाकात का समय मांगा है। ऐसे दोहरा चरित्र वाले यूनियन नेता कर्मचारियों के बीच आखिर किस मुहं से जाएंगे।

वर्मा ने कहा कि भिलाई इस्पात संयंत्र सहित सेल के कर्मचारियों का वेतन समझौता एक जनवरी 2017 से होना है। अब तक इसे लेकर कोई ठोस पहल नहीं हो पाई है।

इस पर चर्चा के लिएस एनजेसीएस की बैठकें भी हुई परन्तु निर्णय नहीं हो पाया। बीते 23 मई को भी बैठक हुई परन्तु बात नहीं बन पाई। यूनियन कामन फार्मूला 15-35-09 (15 फीसद एमजीबी, 35 फीसद पर्क्स और 09 फीसद पेंशन) की मांग कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर प्रबंधन फार्मूला 11-06-10 (11 फीसद एमजीबी, 06 वैरिएबल पर्क्स और 10 फीसद फिक्स्ड पर्क्स ) से आगे नहीं बढ़ रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags