दुर्ग l Rawal mal Jain Murder Case: पार्श्व तीर्थ नगपुरा के प्रमुख ट्रस्टी गंजपारा दुर्ग निवासी रावल मल जैन और उसकी पत्नी सूरजी बाई की हत्या के मामले में अपर सत्र न्यायाधीश शैलेश कुमार तिवारी के न्यायालय ने प्रकरण के मुख्य आरोपित संदीप जैन ( 42) को फांसी की सजा सुनाई है। आरोपित मृतक दंपती का एकमात्र पुत्र है। न्यायाधीश ने अपने निर्णय में कहा है कि आरोपित का यह कृत्य बर्बरता की उत्तुंग सीमा को दर्शाता है,क्योंकि उसके द्वारा अपने जन्मदाता माता-पिता की हत्या का अपराधकारित किया गया है। वहीं इसी मामले में दो अन्य आरोपित भगत सिंह गुरूदत्ता और शैलेंद्र सागर से पांच-पांच साल की सजा सुनाई गई है। दोनों ने ही संदीप जैन को पिस्टल उपलब्ध कराई थी। इसी पिस्टल से आरोपित ने अपने माता पिता की हत्या की थी

दरअसल, गंजपारा दुर्ग निवासी जैन दंपती की एक जनवरी 2018 की सुबह उनके गंजपारा स्थित निवास में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस जांच में यह बात सामने आई कि घटना के दौरान घर पर मृतक दंपती और उसका पुत्र संदीप ही मौजूद था। मामले में पुलिस ने आरोपित संदीप जैन के खिलाफ हत्या और अन्य धाराओं के तहत अपराध दर्ज किया था। पूछताछ में आरोपित ने बताया था कि उसके पिता रावलमल जैन पुरानी रूढ़ीवादी विचारधारा के व्यक्ति थे। पिता को उसकी महिला मित्रों से मिलना पसंद नहीं था। वे कई बार आरोपित को अपनी संपत्ति से बेदखल करने की धमकी भी दे चुके थे। जिससे व्यथित होकर आरोपित ने अपने पिता को मारने की योजना बनाया।

इसके लिए उसने एक देसी पिस्टल और कारतूस खरीदा था। आरोपित को देसी पिस्टल और कारतूस मुहैया कराने वाले कालीबाड़ी दुर्ग निवासी भगत सिंह गुरूदत्ता (47) और गुरूनानक नगर दुर्ग निवासी शैलेंद्र सागर(47) को पुलिस ने सह आरोपित बनाया था। मामले में न्यायालय ने इन दोनों आरोपितों को आयुध अधिनियम के तहत पांच-पांच साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। अभियोजन के मुताबिक घटना दिनांक की सुबह करीब 5.50 बजे आरोपित संदीप ने पहले अपने पिता रावलमल जैन को गोली मारा। इसके बाद राज खुल जाने के डर से अपनी मां सूरजी बाई की भी गोली मारकर उसकी हत्या कर दी।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले आज संदीप जैन आज फैसला सुनाने से पहले न्यायालय कक्ष में कटधरे में खड़ा किया गया। इसके बाद आरोपित संदीप मूर्छित होने लगा। इस पर न्यायालय ने आरोपित से उसके स्वास्थ्य के संबध में जानकारी ली। इसके बाद आरोपित को कटघरे से बाहर निकाल कर न्यायालय परिसर में बैठने के लिए बनाए गए प्लेट फार्म में लिटाया गया था। ज्ञात हो कि 1 जनवरी 2018 को रावल मल जैन और उसकी पत्नी की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close