भिलाई। दुर्ग राजनांदगांव बाइपास के किनारे बन रहे अस्पताल के चौकीदार की गला रेतकर हत्या करने वाले आरोपितों को पुलिस ने खोज लिया है।

आरोपित कोई और नहीं, बल्कि अस्पताल निर्माण के कार्य में लगे मजदूर ही हैं। हालांकि अभी तक घटना का स्पष्ट कारण पता नहीं चल सका है। बताया जा रहा है कि आरोपित वहां से बिल्डिंग मटेरियल चोरी कर बेच रहे थे।

मृतक ने हाल ही में वहां पर काम करना शुरू किया था और वो चोरी में आरोपितों का साथ नहीं देना चाहता था। इसी के चलते आरोपितों ने उसकी हत्या कर दी थी। पुलिस शुक्रवार को इस मामले का पर्दाफाश कर सकती है।

बता दें कि बुधवार की सुबह दुर्ग राजनांदगांव बाइपास के किनारे धमधा के पास निर्माणाधीन अस्पताल के चौकीदार सन्नाी जान (50) की लाश मिली थी। अज्ञात आरोपित ने उसकी गला रेतकर हत्या की थी। मृतक रिसाली का रहने वाला था और उसने एक नवंबर से ही वहां पर चौकीदारी का काम शुरू किया था।

वो रात आठ से सुबह आठ बजे तक चौकीदारी करता था। वहां पर नौ अन्य मजदूर भी काम करते हैं और वहीं पर रहते हैं। सभी मजदूर बिहार और बालोद के रहने वाले हैं।

पुलिस ने हत्या की धारा के तहत प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच शुरू की और वहां काम करने वाले नौ मजदूरों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की थी। पुलिस को शव के पास शर्ट का एक बटन मिला था। वो बटन कुंवर नाम के मजदूर का है। वहीं उसका शर्ट फटे हुए थे और शर्ट पर खून के छींटे भी मिले हैं। पूरी आशंका जताई जा रही है कि कुंवर ने ही अन्य कर्मचारियों के साथ मिलकर चौकीदार की हत्या की थी।

अभी ये भी बात सामने आ रही है कि वहां से बिल्डिंग मटेरियल को चोरी कर बेचा जाता था। मृतक द्वारा चौकीदारी शुरू किए जाने के बाद से वे मटेरियल को बेच नहीं पा रहे थे। उन्होंने पहले चौकीदार सन्नाी जान को अपने साथ मिलाने की कोशिश की। लेकिन, जब वे कामयाब नहीं हो सके तो उन्होंने उसकी हत्या कर दी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local