भिलाई। नंदिनी थाना क्षेत्र की एक नाबालिग को अगवा कर उससे दुष्कर्म करने वाले को पुलिस ने मध्य प्रदेश के पन्नाा जिले से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपित के कब्जे से पीड़िता को भी बरामद किया गया है।

पुलिस ने आरोपित के खिलाफ अपहरण, दुष्कर्म और पाक्सो एक्ट की धाराओं के तहत कार्रवाई की गई है।

पुलिस ने बताया कि ग्राम कैथी जिला पन्नाा मध्य प्रदेश निवासी आरोपित बलीराम बर्मन ने बीते 18 मई को नंदिनी थाना की एक किशोरी को अगवा कर लिया था।

आरोपित उसे लेकर पन्नाा भाग गया था। किशोरी के परिवार वालों की शिकायत पर पुलिस ने अपहरण की धारा के तहत प्राथमिकी दर्ज कर पतासाजी शुरू की थी। आरोपित के बारे में पता चलने पर पुलिस की एक टीम पन्नाा रवाना हुई और उसे गिरफ्तार किया। पुलिस ने आरोपित के कब्जे से पीड़िता को बरामद किया।

पीड़िता ने अपने बयान में दुष्कर्म किए जाने की पुष्टि की। जिसके बाद पुलिस ने आरोपित के खिलाफ दुष्कर्म और पाक्सो एक्ट की धाराएं अलग से जोड़ी। उसे न्यायालय पेश किया गया। जहां से उसे रिमांड पर जेल भेज दिया गया है।

फांसी लगाने की कोशिश, पुलिस ने बचाई जान

पोलसाय पारा दुर्ग निवासी एक अधेड़ ने अपने घर के किचन में फांसी लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। परिवार वालों ने अधेड़ को फांसी लगाता देख पुलिस को जानकारी दी।

जब पुलिस वहां पहुंची तो अधेड़ ने फांसी लगा ली थी। पुलिस ने फौरन दरवाजा तोड़कर उसे फंदे से नीचे उतारा। उसकी सांसे चल रही थी तो उसे फौरन जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां समय रहते इलाज मिलने पर उसकी जान बच गई।

दुर्ग कोतवाली थाना प्रभारी एसएन सिंह ने बताया कि ग्राम जरवाय निवासी चंद्रशेखर सेन ने थाना आकर जानकारी दी थी कि उसके ससुर आत्माराम उमरे ने खुद को किचन में बंद कर लिया है और फांसी लगाने जा रहा है।

इस पर पुलिस की तत्काल उसके ससुर के घर पोलसाय पारा पहुंची। वहां जाकर देखने पर आत्माराम उमरे पंखे में नायलान की रस्सी पर झूलता दिखा। पुलिस ने फौरन दरवाजे को तोड़ा और उसे नीचे उतारा। जब आत्माराम को नीचे उतारा गया, तब उसकी सांसे चल रही थी। पुलिस ने उसे फौरन अस्पताल पहुंचाया। जहां उसे समय पर इलाज मिल गया और उसकी जान बच गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close