भिलाई। आनलाइन प्रक्रिया इतनी जटिल है कि लोग नामांकन नहीं भर पा रहे है। इसलिए चारों निकायों में अब तक नामांकन निरंक है। 20 साल से राजनीतिक कर रहे दावेदारों को भी प्रक्रिया का ज्ञान नहीं है। नामांकन आफ लाइन किए जाने की मांग भी शुरू हो गई है।

बता दें कि दुर्ग जिले के चार निकायों के 170 वार्डों के लिए 20 दिसंबर को चुनाव होना है। तीन दिसंबर को नामांकन की अंतिम तारीख है। नामांकन का आज तीसरा दिन है और अब तक किसी भी निकाय में एक भी नामांकन जमा नहीं हुआ है। आनलाइन नामांकन भरने में लोगों को चार से पांच घंटे का समय लग रहे है, उसके बाद भी प्रक्रिया समझ में नहीं आ रही है। साथ ही कई दावेदारों को नामांकन जमा करने के लिए क्या क्या चाहिए यह भी नहीं पता है। सोमवार को चारों निकायों में नो ड्यूज के लिए लंबी कतरे लगी रही।

आनलाइन प्रक्रिया जटिल

दावेदारों को आनलाइन नामांकन जमा करना है। प्रक्रिया को बेहद जटिल बताया जा रहा है। हालांकि सभी निकायों ने फार्म भरने के लिए आपरेटर की व्यवस्था की है, पर दावेदारों से लगातार हो रही गलती की वजह से आनलाइन नामांकन जमा नहीं हो पा रहा है। इसलिए 27 नवंबर को नामांकन निरंक रहा है, 28 को अवकाश का दिन था। 29 नवंबर को भी नामांकन निरंक रहा है। अब दावेदारों के पास केवल चार दिन का समय शेष बच गया है।

दावेदारों को नहीं है प्रक्रिया की जानकारी

जो पुराने पार्षद है उन्हें थोड़ी बहुत नियमों की जानकारी है, पर जो नए दावेदार है वह प्रक्रिया को समझने में ही उलझे हुए हैं। सभी निकायों के निर्वाचन अधिकारी लगातार लोगों को जानकारी दे रहे हैं, बावजूद दावेदारों से कुछ न कुछ छूट रहा है। ऐसे में बहुत से दावेदारों के नामांकन नहीं भर पाने तथा रद्द होने की संभावना भी बढ़ गई है।

आप समझिए क्या है प्रक्रिया

-यदि आप दावेदार हैं तो आपका यूजर चार्ज समेत सारा टैक्स पटा होना चाहिए। इस आधार पर निकाय आपको नो ड्यूज देगा।

-आप जिस वार्ड से चुनाव लड़ना चाहते हैं, प्रस्तावक उसी वार्ड का होना चाहिए। उस वार्ड के मतदाता सूची में उसका नाम होना चहिए, तथा प्रस्तावक का भी यूजर चार्ज समेत सारा टैक्स पटा होना चाहिए। नो ड्यूज प्रस्तावक का भी अनिवार्य है।

-यदि आप आरक्षित वार्ड से लड़ना चाहते हैं तो आपका जाति प्रमाण पत्र बना होना चाहिए। समय अभाव को देखते हुए आप अस्थायी जाति प्रमाण पत्र बनवाकर भी दे सकते हैं।

बयान

-आनलाइन प्रक्रिया बेहद जटिल है। ऐसे में तो कई दावेदारों का नामांकन निरस्त हो जाएगा। आफलाइन प्रक्रिया जल्द शुरू किया जाना चाहिए।

दीपक गुप्ता, दावेदार

नगर पालिका जामुल

-यह तो आयोग को तय करना है। आयोग का जो दिशा निर्देश होगा उसका पालन किया जाएगा।

प्रकाश कुमार सर्वे, आयुक्त

नगर निगम भिलाई

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local