भिलाई। फांसी लगाकर आत्महत्या करने वाले एक युवक के शव को उसके स्वजनों को देने के एवज में कुम्हारी के थाना प्रभारी एसआइ प्रकाश शुक्ला ने 45 हजार रुपये की रिश्वत ली।

परिवार के सदस्यों ने रिश्वत मांगने का वीडियो बना लिया। कुछ ही देर में ये वीडियो शहर में वायरल हो गया। एसपी डा. अभिषेक पल्लव तक भी ये वीडियो पहुंचा। जिसके बाद एसपी ने एसआइ प्रकाश शुक्ला को तत्काल लाइन अटैच करते हुए विभागीय जांच शुरू कर दी है। एसआइ प्रकाश शुक्ला डेढ़ साल पहले भी रिश्वत लेने के मामले में लाइन अटैच हो चुके हैं। इसके बाद दूसरी बार वे रिश्वत लेते हुए कैमरे में कैद हुए हैं।

जानकारी के मुताबिक पंजाब के मोगा जिला निवासी मंदीप सिंह (27) नाम के युवक ने सोमवार को कुम्हारी के कंडरका स्थित वर्धमान एजेंसी में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। मंदीप सिंह शनिवार की शाम को कुम्हारी पहुंचा था। वर्धमान एजेंसी में थ्रेसर मशीन लगाने का काम किया जाता है।

यह भी पढ़ें : एसएससी की परीक्षा में पकड़े गए फर्जी परीक्षार्थी: दूसरे की जगह एग्‍जाम देने दो लाख में तय हुआ था सौदा

फांसी लगाए जाने की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने शव को चीरघर में रखवाया था। बुधवार के उसके परिवार वाले कुम्हारी पहुंचे तो पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया। इसके बाद शव को परिवार वालों को सौंपा गया।

दावा किया जा रहा है कि वायरल वीडियो में एसआइ प्रकाश शुक्ला ने इसी युवक के शव सौंपने के एवज में रिश्वत ली है। वीडियो में नजर आ रहा है कि एसआइ प्रकाश शुक्ला ने शव देने के लिए एवज में एक लाख रुपये की मांग की थी। परिवार वालों ने असमर्थता जाहिर की तो 50 हजार रुपये में बात तय हुआ। लेकिन, परिवार वालों के पास 50 हजार रुपये भी पूरे नहीं थे तो उन्होंने 45 हजार रुपये ही एसआइ प्रकाश शुक्ला को दिया। रुपये लेने के दौरान एसआइ प्रकाश शुक्ला रिश्वत के रुपयों में से टीआइ और सीएसपी को भी हिस्सा देने की बात कहते हुए नजर आ रहे हैं।

एसपी दुर्ग डा. अभिषेक पल्लव ने कहा, प्रथम दृष्टया वीडियो सही नजर आ रहा है। इसके आधार पर एसआइ प्रकाश शुक्ला को लाइन अटैच कर दिया गया है और उनके खिलाफ विभागीय जांच शुरू की जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close