भिलाई। एक तरफ चरोदा निगम का रेलवे कालोनी है, जहां विकास की अपार संभावनाएं है पर रेलवे परमिशन नहीं देता। दूसरी तरफ रिसाली निगम का लक्ष्मी नगर वार्ड है, जहां विकास कार्य होता ही नहीं है।

नईदुनिया की टीम ने वार्ड परिक्रमा के 29 वें चरण में भिलाई चरोदा निगम के वार्ड 29 रेलवे कालोनी जोन तीन तथा रिसाली नगर निगम के वार्ड 29 लक्ष्मी नगर की पड़ताल की। दोनों ही वार्डों में समस्या अलग-अलग। एक तरफ रेलवे का क्षेत्र है। जहां पार्षदों को विकास कार्य के लिए पहले निगम दफ्तर फिर डीआरएम दफ्तर रायपुर के चक्कर काटने पड़ते हैं।

हर काम के लिए परमिशन आवश्यक है। पार्षद कहते भी हैं कि हमें छोटे-छोटे कार्यों के लिए दो-दो जगह भागना पड़ता है। रिसाली निगम का लक्ष्‌मी नगर पाश कालोनी तो हैं, पर यहां भी समस्या बहुत है। सड़क नाली पूरी नहीं बन पाई। इस वार्ड में एक सरस्वती कुंज है। ये अवैध बस्ती है, इस वजह से इसे सभी सुविधाओं से वंचित रखा गया है।

नगर निगम भिलाई-चरोदा वार्ड 29 रेलवे कालोनी जोन तीन

-नए वार्ड परिसीमन में ये क्षेत्र पूरी तरह से प्रभावित हुआ है।

-वार्डों का क्रमांक बदल गया है। ये वार्ड पहले 28 नंबर वार्ड हुआ करता था।

-रेलवे कालोनी के 26 व 27 नंबर वार्ड को विलोपित कर वार्ड 28 में समाहित कर दिया गया है।

-इस वार्ड की की आबादी चार हजार तथा मतदाता संख्या 28 सौ है।

-वार्ड सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित किया गया है।

-यह वार्ड भारतीय जनता पार्टी के प्रभाव वाला वार्ड है।

-यहां से भाजपा के चंद्रप्रकाश पाण्डेय लगातार दो बार पार्षद बनते आ रहे हैं। वर्तमान में वे भिलाई-चरोदा निगम में एमआइसी मेंबर हैं।

वार्ड एक नजर में...

-यह वार्ड रेलवे कालोनी का अंतिम हिस्सा है।

-वार्ड में विकास कार्य हुए हैं। ओपन जिम बना है। चार मंच का निर्माण कराया गया है। बच्चों के खेलने झूला लगाया गया है। उद्यान विकसित कराया गया है।

-वार्ड में सड़क, नाली बन चुकी है। कुछ जगहों पर काम बाकी है। रेलवे परिक्षेत्र होने के कारण बार-बार परिमिशन की दिक्कत के कारण उतनी रफ्तार से काम नहीं हो पाए।

-इस वार्ड में एक बस्ती है। जहां पानी की गंभीर समस्या है। गर्मी में दिक्कत और बढ़ जाती है।

-पार्षद चंद्रप्रकाश पांडेय द्वारा पार्षद निधि से चार बार बोर कराया जा चुका है, पर हर बार बोर फेल हो जाता है।

-वार्ड के युवाओं ने उबड़ खबड़ जमीन को दो महीने की मेहनत के बाद क्रिकेट ग्राउंड बना दिया।

नगर निगम रिसाली वार्ड 29 लक्ष्‌मी नगर

-वार्ड परिसीमन में इस रिसाली वार्ड से तोड़कर इसे नया वार्ड बनाया गया है।

-वार्ड की आबादी 35 सौ तथा मतदाता संख्या 22 सौ है।

-वार्ड आरक्षण में इस वार्ड को अनारक्षित किया गया है।

-वार्ड नया है इसलिए वार्ड की दलीय स्थिति का आंकलन चुनाव के बाद संभव हो पाएगा।

-वार्ड के निवृतमान पार्षद चुम्मन देशमुख है।

वार्ड एक नजर में...

-यह पाश कालोनी वाला वार्ड है वार्ड में लक्ष्‌मी नगर के साथ हिंद नगर व सरस्वती कुंज है।

-वार्ड में 40 लाख की लागत से सड़क तथा 30 लाख की लागत से सीसी नाली का निर्माण कराया गया है, पर काम काम अधूरा है।

-रिसाली निगम ने अधूरे कामों को पूरा करने के लिए प्रस्ताव बनाया है।

-वार्ड के हिंद नगर में भी बारिश के दिनों में जलभराव की दिक्कत रहती है।

-इस वार्ड में सरस्वती कुंज नामक बस्ती है। जिसे अवैध बस्ती मानी जाती है। जहां आज तक मूलभूत सुविधाएं नहीं पहुंची ।

-सरस्वती कुंज के लोगों को बिल्डिंग परिमशन तक नहीं मिलता।

-लोगों को सड़क, पानी, बिजली, नाली के लिए तरसना पड़ रहा है।

-यहीं देशी शराब दुकान भी है, जिसकी वजह से पूरा क्षेत्र दिक्कत में है।

क्या कहते हैं पार्षद

-विकास कार्य के लिए जगह बहुत था। प्रस्ताव भी बनाया गया था, पर परमिशन के चक्कर में काफी दिक्कत हुई। बस्ती में पानी की समस्या है।

-चंद्र प्रकाश पांडेय, पार्षद वार्ड 29

नगर निगम भिलाई-चरोदा

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags