भिलाई। टाउनशिप के सेक्टर-8 स्थित स्कूल भवन में जहां दशकों तक पढ़ाई होती थी वहां अब शहनाई गुंजेगी। बीएसपी प्रबंधन ने दो साल पहले इस स्कूल को बंद कर दिया है। इसके बाद से भवन खाली पड़ा है।

टाउनशिप में बीएसपी का अपना कोई मंगल भवन वर्तमान में नहीं रह गया है। ऐसे में कार्मिकों को पारिवारिक कार्यक्रमों के लिए मोटी रकम पर निजी भवन लेना पड़ता है।

लगातार मांग के बाद अब यह सौगात देने की तैयारी है। वर्तमान भवन के रिनोवेशन के अलावा संचालन व मेंटेनेंस का काम एजेंसी के ही जिम्मे होगा। प्रबंधन एजेंसी तलाश रहा है, वहीं अन्य प्रक्रिया पूरी कर ली है।

भिलाई इस्पात संयंत्र ने टाउनशिप में कर्मचारियों व अधिकारियों के आमोद-प्रमोद (मनोरंजन)के लिए विभिन्न सेक्टरों में इस्पात क्लब बनाया गया था।

वहीं वैवाहिक व अन्य बड़े आयोजन के लिए सेक्टर-6 में मंगल भवन का निर्माण किया था। इसके अलावा एक अन्य भवन जिसे सर्किट हाउस नाम दिया गया था वह सेक्टर-7 महाराणा प्रताप चौक के सामने बनाया गया था। उक्त दोनों ही भवन वर्तमान में बीएसपी के पास नहीं हैं।

-मंगल भवन में बैंक, सर्किट हाउस में बीएसएफ

सेक्टर-6 मंगल भवन सर्व सुविधायुक्त था। बीएसपी ने करीब पांच साल पहले मितान संस्था को दे दिया था। बाद में इस भवन को पंजाब नेशनल बैंक को दे दिया गया।

वर्तमान में इसमें बैंक ही संचालित हो रहा है। इसी तरह सेक्टर-7 महाराणा प्रताप चौक के सामने सर्किंट हाउस भवन को रावघाट परियोजना व नक्सली उन्मूलन अभियान में लगे अर्द्घ सैनिक बल बीएसएफ की यूनिट को दे दिया गया है। यहां बीएसएफ द्वारा जोन कार्यालय खोला गया है।

कर्मचारियों की सुविधा छीनी

बीएसपी प्रबंधन द्वारा एकतरफा निर्णय लेकर सेक्टर-6 मंगल भवन को बैंक भवन के लिए सौंपे जाने से कम्रचारी नाराज हो गए थे।

कर्मचारियों ने यूनियन प्रतिनिधियों के माध्यम से इस बात को प्रबंधन के पास रखा कि वर्तमान में सारी इस्पात भवन की हालत ऐसी नहीं है कि उसका उपयोग शादी-विवाह अथवा अन्य कार्यक्रम के लिए किया जा सके। ऐसे में एकमात्र मंगल भवन को भी बैंक को देने से सीधे-सीधे कर्मचारियों को मिलने वाली सुविधा एक तरह से प्रबंधन ने छीन ली।

निजी भवन ले रहे मोटी रकम

टाउनशिप में वर्तमान में कर्मचारी विभिन्न आयोजनों के लिए निजी सामाजिक भवनों पर ही आश्रित हैं। उक्त भवन के लिए बीएसपी ने ही जमीन दी है परन्तु किराया निर्धारण में इन भवनों के संचालकों व समाज के लोगों द्वारा बीएसपी के कर्मचारियों को कोई राहत नहीं दी जाती। किराया के रूप में मोटी रकम वसूल की जाती है। इससे कर्मचारियों को आर्थिक चपत लगती है।

यह होगी नई व्यवस्था

बीएसपी प्रबंधन ने लगातार मांग के बाद सेक्टर-8 में दो साल से बंद पड़े बीएसपी उच्चतर माध्यमिक स्कूल भवन को मंगल भवन में तब्दील करने का निर्णय लिया है। इस स्कूल के सभागार, चुनिंदा कमरों व हाल का रिनोवेशन करना होगा। बीएसपी की योजना के मुताबिक यह मंगल भवन किसी एजेंसी को दिया जाएगा।

जो इसका रिनोवेशन करने के साथ अनय सुविधाएं लगाएगा। मंगल भवन का संचालन व भविष्य में मेंटेनेंस भी उसके ही जिम्मे होगा। कर्मचारियों के लिए किराया का निर्धारण प्रबंधन व यूनियन की संयुक्त कमेटी तय करेगी और संचालन की मानिटरिंग भी करेंगे। इसके लिए सारी प्रक्रिया अंतिम चरणों में है।

प्रक्रिया अंतिम चरण में

प्रबंधन ने सेक्टर-8 के बंद स्कूल को सर्व सुविधायुक्त मंगल भवन बनाने का निर्णय ले लिया है। संचालन निजी एजेंसी करेगी। किराया का निर्धारण यूनियन व प्रबंधन की संयुक्त कमेटी करेगी। इंटक लंबे समय से इस सुविधा के लिए प्रयासरत था।

-संजय कुमार साहू, अतिरिक्त महासचिव, इंटक

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags