Wife Burnt Alive In Bhilai: भिलाई। शराब पीने के लिए पैसे न मिलने पर एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी के सिर को खिड़की से पटकने के बाद बेहोश होने पर उसे जिंदा जला दिया। घटना के समय महिला के ससुर, देवर और जेठ वहीं थे। लेकिन, किसी ने भी बीच बचाव नहीं किया। बल्कि, वहीं खड़े होकर आरोपित का साथ देते रहे। बाद में उन्हें अपनी गलती का अहसास हुआ तो महिला को फौरन अस्पताल ले जाया गया।

जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए डीकेएस अस्पताल रायपुर रेफर कर दिया गया। वहां महिला ने अपने पिता को आरोपितों के कृत्य के बारे में बताया। इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई। इसके बाद उसके पिता ने जामुल थाना में घटना की शिकायत की। जिसके आधार पर पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ हत्या की धारा के तहत प्राथमिकी दर्ज की है।

पुलिस ने बताया कि गया नगर दुर्ग निवासी शिकायत कर्ता प्रदीप शर्मा ने अपनी बेटी रंजीता दुबे के पति मठपारा जामुल निवासी इंद्रजीत दुबे, ससुर योगेश दुबे, जेठ भूपेंद्र और देवर फरेंद्र के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। शिकायतकर्ता की बेटी की शादी नौ साल पहले आरोपित से हुई थी और अभी उसके दो बच्चे हैं।

बीते 31 अगस्त की रात को आरोपित इंद्रजीत दुबे शराब के नशे में घर पहुंचा था और उसने अपनी पत्नी से शराब पीने के लिए रुपये मांगे थे। रुपये न मिलने पर उससे मारपीट की। चोट लगने से रंजीता जमीन पर गिर गई तो आरोपित ने उस पर मिट्टी का तेल छिड़ककर उसे जिंदा जलाने की कोशिश की।

घटना के समय उसके ससुर योगेश दुबे, जेठ भूपेंद्र दुबे और फरेंद्र दुबे भी वहीं मौजूद थे। शिकायतकर्ता को रात में अपनी बहन पूनम शर्मा से इस घटना के बारे में जानकारी मिली। जिसके बाद वो अपनी पत्नी सरस्वती शर्मा व बहन के साथ अस्पताल पहुंचा।

लेकिन, गंभीर हालत को देखते हुए उसे अंबेडकर अस्पताल रायपुर रेफर किया गया और अंबेडकर अस्पताल से उसे डीकेएस अस्पताल ले जाया गया। पुलिस ने बताया कि दो सितंबर को रंजीता दुबे को होश आया तो उसने अपने पिता को आरोपितों के कृत्य के बारे में बताया था।

इलाज के दौरान आठ सितंबर की रात को रंजीता की मौत हो गई। रायपुर में मौत की सूचना दर्ज करने के बाद वहां से जामुल थाना डायरी पहुंची। यहां केस डायरी पहुंचने के बाद पुलिस ने मृतका के पिता का बयान लिया और बयान के आधार पर आरोपितों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local