भिलाई। नईदुनिया प्रतिनिधि

सुपेला की एक शातिर महिला ने महिलाओं समूह बनाकर बैंक से लोन लेकर अपने पति का बिजनेस स्टैंड किया। उक्त महिला ने कई समूह बनाए और 200 से अधिक महिलाओं को जोड़ा। उक्त समूहों का लोन पास होते ही महिला ने सारे पैसे निकालकर खर्च कर दिए। जब पति को बिजनेस में नुकसान होने लगा और बैंक वालों ने समूह की महिलाओं से ऋण वसूली शुरू की तो आरोपित महिला फरार हो गई। करीब डेढ़ महीने बाद पुलिस ने आरोपित महिला को नागपुर से गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बताया कि शंकर पारा सुपेला निवासी आरोपित महिला प्रतिमा सिंह ने सुपेला क्षेत्र की आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं का समूह बनाकर विभिन्ना बैंकों जना बैंक, इंसाफ बैंक, बंधन बैंक, एसएस बैंक, उज्ज्वला बैंक से ग्रुप लोन लिया। हर ग्रुप में आरोपित महिला ही लीडर बनती थी। समूह बनाने के बाद समूह की हर महिला के नाम से खाता खोला गया। आरोपित महिला ने समूह की सभी महिलाओं के बैंक का पासबुक और एटीएम अपने पास रख लिया। जब समूह का लोन पास हुआ तो महिला ने सभी महिलाओं के हिस्से की राशि उनके एटीएम की मदद से निकाल ली। लोन के पैसों से आरोपित महिला ने अपने पति राकेश सिंह के लिए चार कॅमर्शियल गाड़ियां खरीदी और कुछ पैसे जमीन में निवेश किए थे।

कुछ महिलाओं ने आरोपित महिला प्रतिमा सिंह से रुपये निकालने के संबंध में जानकारी मांगी तो उसने पति के इलाज का बहाना बनाया। वहीं अधिकांश महिलाओं को तो यह पता भी नहीं था कि उनके हिस्से की राशि को आरोपित प्रतिमा सिंह ने बैंक से निकाल लिया है। जब बैंक के अधिकारियों ने लोन की रिकवरी के लिए समूह की महिलाओं से संपर्क किया तो उन्हें आरोपित महिला की करतूत के बारे में जानकारी हुई। कुछ महिलाएं, आरोपित के पास पैसे मांगने पहुंची तो वो चुपके से फरार हो गई थी। पीड़ित महिला पूनम तांडी, सुमन रैकवार, पिंकी तांडी, सलमा बेगम, शबनम खातून, पूनम विश्वकर्मा, रेश्मा, नीलम, सरीता, सकीना बेगम, खतीजा, नगमा बेगम, मंजू प्रसाद, कविता और किरण सहित अन्य महिलाओं ने दीपावली के पहले घटना की शिकायत की थी। जिस पर पुलिस ने आरोपित महिला को नागपुर से पकड़ा और उसके खिलाफ धोखाधड़ी की धारा के तहत कार्रवाई की है।

बाक्स...

करीब 200 महिलाएं हुई हैं शिकार

आरोपित महिला की गिरफ्तारी की जानकारी लगते ही थाने पहुंची पीड़ित महिलाओं ने पुलिस को बताया है कि आरोपित प्रतिमा सिंह ने करीब 200 से अधिक महिलाओं को चूना लगाया है। एक महिला के नाम पर कम से कम 40 हजार रुपये और अधिकतम डेढ़ लाख रुपये तक लोन पास हुआ था। इस हिसाब से आरोपित महिला ने करीब डेढ़ करोड़ रुपये की ठगी की है। ठगी का शिकार हुई अन्य महिलाओं के सामने आने के बाद पुलिस उनकी शिकायतों को भी केस में शामिल करेगी।

वर्सन...

नागपुर में मिली महिला

बैंक वालों और समूह की महिलाओं का दबाव बढ़ने पर आरोपित महिला अपने बच्चों और परिवार को छोड़कर भाग गई थी। वो इतने दिनों तक नागपुर में छिपी हुई थी। उसके पति के मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर रखा गया था। जब आरोपित महिला ने नागपुर के नंबर से अपने पति को फोन किया तो हमें शक हुआ। नंबर को ट्रेस करते हुए आरोपित महिला तक पहुंचा जा सका और उसे गिरफ्तार किया गया है।

- गोपाल वैश्य, टीआइ सुपेला थथथथ

इर्ीॅािीि घीाचैनज थ

ऽऽऽऽ

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket