बीजापुर । नक्सल नेताओं ने लंबी चुप्पी के बाद अपने बड़े माओवादी नेता और दंडकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी के सचिव रमन्ना उर्फ रावला श्रीनिवास की मौत की पुष्टि कर दी है। यहां मुख्य बात यह है कि माओवादी नेता विकल्प ने खुद नईदुनिया को फोनकर रमन्ना की मौत की पुष्टि की। विकल्प ने बताया कि गंभीर बीमारी के बाद रमन्ना की 7 दिसंबर को रात 10 बजे तेलंगाना और छत्तीसगढ़ की सीमा पर किसी अज्ञात स्थान पर मौत हो गई।

गौरतलब है कि इससे पहले नक्सल कमांडर रमन्ना की मौत पर सस्पेंस बना हुआ था। पुलिस और खुफिया एजेंसियों के पास यह सूचना थी कि तेलंगाना से सटे बीजापुर जिले के जंगल में रमन्ना का अंतिम संस्कार किया गया लेकिन नक्सली इस मामले में चुप्पी साधे हुए थे।

रमन्ना अप्रैल 2010 में हुई अब तक की सबसे बड़ी नक्सल वारदात ताड़मेटला कांड का मास्टरमाइंड था। इसी घटना ने देश का ध्यान बस्तर की नक्सल समस्या की ओर खींचा था। ताड़मेटला में सीआरपीएफ के 76 जवान मारे गए थे।

रमन्ना की बीमारी से मौत की खबर के बाद बीते कई दिनों से छत्तीसगढ़ व तेलंगाना पुलिस इसकी पुष्टि के लिए परेशान दिखी और नक्सली इसकी पुष्टि भी नहीं कर रहे थे। लेकिन आज खुद नक्सली नेता विकल्प ने नईदुनिया से फोन पर चर्चा में रमन्ना की मौत की पुष्टि कर दी।

15 साल की उम्र से दक्षिण बस्तर के जंगलों में सक्रिय रहा रमन्ना

तेलंगाना के वारंगल जिले के रमन्ना उर्फ रावुलू श्रीनिवास ने 15 साल की उम्र में हथियार उठा लिया था। तभी से वह दक्षिण बस्तर के सुकमा व बीजापुर जिले के बीच के जंगलों में सक्रिय रहा। छह अप्रैल 2010 को सुकमा जिले के ताड़मेटला में उसने सीआरपीएफ की एक कंपनी पर हमला किया जिसमें 76 जवानों की मौत हो गई। 2005 से अब तक उस इलाके में हुई लगभग सभी बड़ी वारदातों का मास्टरमाइंड उसे माना जाता था। आंध्र, ओडिशा, तेलंगाना, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र राज्य सरकारों ने उस पर कुल ढाई करोड़ से ज्यादा का इनाम रखा था।

पुलिस के पास नहीं है रमन्ना की कोई ताजा तस्वीर

रमन्ना इतना शातिर है कि पुलिस उसकी कोई हालिया तस्वीर तक हासिल नहीं कर पाई है। रमन्ना की मौत की खबरों के बाद रमन्ना की वही तस्वीर सामने आई जो बेदह पुरानी है। रमन्ना पर घोषित इनाम के साथ पुलिस इसी तस्वीर का इश्तहार जारी करती है पर वह पकड़ में नहीं आता। जबकि बस्तर में ही उस पर 40 लाख रुपए का नगद इनाम घोषित है।

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket