बीजापुर (नईदुनिया न्यूज)। अबूझमाड़ क्षेत्र मेें बीमार लोेगों के इलाज के लिए दवाइयां व चिकित्सा दल को इंद्रावती नदी पार कराने नगरसेना द्वारा तैनात मोटरबोट को रविवार को नक्सली लूट कर ले गए। घटना दोपहर दो बजे जिले के भैरमगढ़ विकासखंड में उसपरी गांव के समीप नदी तट पर हुई। आधा दर्जन सशस्त्रनदी घाट पर पहुंचे और उन्होंने नगर सेना के जवानों से पहले मोटरबोट चलाने की ट्रेनिंग ली और इसके बाद सैनिकों कोे धमकाकर वापस भेज दिया और बोट लेकर नदी के निचले क्षेत्र डाउनस्ट्रीम की ओर निकल गए।

घटना के बाद जिला मुख्यालय बीजापुर पहुंचने के बाद नगर सैनिकों ने घटना की जानकारी अधिकारियों को दी। कलेक्टर राजेंद्र कटारा और पुलिस अधीक्षक आंजनेय वाष्णैय ने घटना की पुष्टि की है। विदित हो कि बीजापुर और नारायणपुर जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र के सात गांवों में पिछले दो माह में 39 लोगों की मौत जिनमें कई बीमार भी थे का मामला पांच दिन पहले सामने आया था। प्रभावित गांवों तक पहुंचने क्षेत्र की प्रमुख नदी इंद्रावती नदी को पार करना पड़ता है।

नदी में पुल नहीं है। प्रभावित गांवों तक चिकित्सा एवं प्रशासन की टीमों, दवाइयां व अन्य जरूरी सामग्री नदी पार भेजने तट पर मोटरबोट, एंबुलेंस तैनात कर नगर सेना व स्वास्थ्य कर्मचारियों की अतिरिक्त टीम भी लगाई गई थी। मौतों की खबर सामने आने के बाद से मोटरबोट से प्रभावित गांवों तक दलों को भेजने नदी पार कराया जा रहा था।

रविवार को भी दोपहर में चिकित्सा दल व दवाइयां मोटरबोट से पार कराई गई। इसके कुछ देर बाद ही नक्सलियों द्वारा मोटरबोट लूटकर ले जाने की खबर आई। पुलिस अधीक्षक आंजनेय वाष्णैव से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि घटना की खबर मिली है। पूरी स्थिति की जानकारी ली जा रही है।

क्या कहा कलेक्टर ने?

नक्सलियों द्वारा मोटरबोट लूटने की घटना पर कलेक्टर राजेन्द्र कटारा ने कहा कि वह पूरी जानकारी ले रहे हैं। मोटरबोट बीमार लोगों के इलाज के लिए दवाइयां व चिकित्सा दलों को प्रभावित गांव भेजने नदी पार कराने के लिए लगाई गई थी। स्वास्थ्य विभाग की टीमें चार दिनों से प्रभावित गांवों में रहकर बीमार लोगों का इलाज व सेवा कर रही हैं। कलेक्टर ने कहा कि यह नक्सल प्रभावित इलाका है और उन्हें उम्मीद है कि नक्सली सेवा कार्य में बाधा खड़ी नहीं करते हुए मोटरबोट लौटा देंगे।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close