बीजापुर। Chhattisgarh: शनिवार को इंटरनेट मीडिया में एक वीडियो वायरल हुआ जो तुरंत चर्चा में आ गया। वीडियो में एक बाघ जंगल से होता हुआ नदी में पानी पीने के लिए जाता दिख रहा है। दावा किया जा रहा है कि यह जिले के इंद्रावती टाइगर रिजर्व (आइटीआर) का वीडियो है और इसे स्थानीय लोगों ने मोबाइल कैमरे पर कैद किया है। इस वीडियो के सामने आते ही इसकी सच्चाई जानने के लिए आइटीआर के अफसरों को फोन आने लगे पर अफसरों ने यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि अभी वन विभाग की दो टीमें जंगल में बाघ का पता लगाने के लिए भेजी गई हैं। इन टीमों में 12 लोग शामिल हैं। जब तक ग्राउंड से रिपोर्ट नहीं आती हम पुष्टि नहीं कर सकते।

शाम को दोनों टीमें लौट आईं तो आइटीआर के उप निदेशक रामसेवक वट्टी ने कहा कि यह मामला आइटीआर का नहीं है। टीमों ने चिंतावागू से रामपुरम के बीच सर्वे किया पर कुछ हासिल नहीं हुआ। सुबह दोबारा टीमों को भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि मामला सामान्य वन क्षेत्र का है और आइटीआर में बाघ की मौजूदगी को सिरे से खारिज कर दिया। बताया जा रहा है कि आइटीआर में भले ही एक बाघ के विचरण की चर्चा हो रही है पर दरअसल इस इलाके में पांच बाघ मौजूद हैं।

इंद्रावती टाइगर रिजर्व में हाल ही में कुछ परिक्षेत्रों में बाघ देखे गए हैं। यह रिपोर्ट मैदानी अमले ने आला अधिकारियों को दी है। खबर है कि इसके लिए अधिकारियों ने महाराष्ट्र और तेलंगाना के अफसरों से चर्चा की है। माना जा रहा है कि आइटीआर के अफसर बाघ की मौजूदगी से इसलिए इंकार कर रहे हैं कि कहीं खबर लीक होने पर इस इलाके में अंतरराष्ट्रीय शिकारी न आ जाएं। ज्ञात हो कि बाघ का विचरण क्षेत्र काफी बड़ा होता है और बाघ तेलंगाना एवं महाराष्ट्र की ओर भी जा सकते हैं। अबूझमाड़ में भी इनका विचरण संभव है। इंद्रावती नदी के पार भी इनकी मौजूदगी की खबर है।

हरकत में आया वन महकमा

अचानक इंद्रावती टाइगर रिजर्व का महकमा हरकत में आ गया है। बताया गया है कि बाघ को बचाने के लिए आइटीआर को शाकाहारी प्राणियों के लिए अनुकूल बनाने की कवायद की जा रही है। यहां घास का रोपण करने की तैयारी है। घास एक तो शाकाहारी वन्य जीवों के लिए चारागाह है। दूसरी ओर बाघ घास में अपना छिपाव भी हासिल कर लेता है। इस तरह वह शाकाहारी प्राणियों का शिकार कर सकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस