बीजापुर। Chhattisgarh News : नक्सलियों के पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी(पीएलजीए) सप्ताह के पहले दिन सोमवार को बासागुड़ा और भोपालपटनम की ओर जाने वाले वाहनों को पुलिस ने घाटी से ही लौटा दिया।

सुबह जब बसें निकलीं तो घाटी में सीआरपीएफ के कैंप के सामने ही पुलिस ने बसों को जाने से रोक दिया गया।

भोपालपटनम में नक्सलियों की नेशनल एरिया कमेटी ने पीएलजीए सप्ताह मनाने की अपील करते हुए भोपालपटनम से दो किमी दूर मट्टीमरका मार्ग पर बड़ी तादाद में पर्चे फेंके हैं। पर्चों में संगठन द्वारा गठित पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी की वर्षगांठ को गांव-गांव उत्साहपूर्वक मनाने की अपील की गई है। यह पहली घटना नहीं है जब ब्लॉक मुख्यालय के इतने नजदीक माओवादियों द्वारा पर्चे फेंके गए हैं।

दूसरी ओर नक्सली बंद के चलते बासागुड़ा समेत संवेदनशील मार्गों पर सोमवार को यात्री बसों के अलावा सवारी टैक्सियों के पहिये थमे रहें। नतीजतन यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। अंदरूनी इलाकों में जहां पिकअप और जीप के भरोसे मुसाफिर होते हैं, परिचालन बंद होने से मुसाफिर पूरे दिन परेशान होते रहे।

तीन बम बरामद, एक को निष्क्रिय करते जवान घायल

पीएलजीए सप्ताह के पहले दिन सुरक्षा बलों ने तीन बम बरामद किए। वहीं बम को निष्क्रिय करते एक जवान भी घायल हो गया। घायल जवान का नाम मांडो कुरसम बताया गया है जिसका उपचार फरसेगढ़ स्वास्थ्य केंद्र में चल रहा है। बासागुड़ा थानाक्षेत्र के तरेम में सर्चिंग कर रहे सीआरपीएफ 168 बटालियन के जवानों ने पांच-पांच किलो वजनी दो बम मिले थे।

Posted By: Hemant Upadhyay