बीजापुर। जिले के अति संवेदनशील और दंतेवाड़ा की सीमा पर स्थित पीडिया गांव के 7 ग्रामीणों के मौत की खबर है। हालांकि अब तक प्रशासन ने इसकी पुष्टि नहीं की है। उस इलाके के ग्रामीण इन मौतों की पुष्टि कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि मिर्ची तोड़ कर वापस लौटे ग्रामीणों में से सात की तीन दिन पहले मौत हो गई है, जिनका गांव में ही बुधवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया है।

प्रशासन अब अंतिम संस्कार में शामिल लोगों की तलाश और इससे जुड़े तथ्य जुटाने में लगा है कि आखिर सात ग्रामीणों की मौत कैसे हुई? गंगालूर थाना क्षेत्र के पीडिया गांव के ग्रामीण मिर्च तोड़ने के लिए तेलंगाना गए थे।

तेलंगाना में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते सभी ग्रामीण पैदल ही एक सप्ताह पूर्व अपने गांव लौट आए थे। तेलंगाना से लौटने वाले सात लोगों की गांव में ही मौत हो गई है।

पीडिया के ग्रामीण मासा ने सातों ग्रामीणों को तेलंगाना से लौटने के बाद सर्दी- खांसी होना बताया है। अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि सातों ग्रामीणों की एक साथ मौत हुई है या अलग-अलग।

मृतकों के नाम भी पता नहीं चले हैं।

प्रशासन इस मामले में तथ्य और पूरी जानकारी जुटाने में लगा है। कलेक्टर केडी कुंजाम का कहना है कि उन्हें भी इस बात की जानकारी मिली है परंतु अभी तक सच्चाई का पता नहीं चल पाया है। वे टीम भेजकर सच्चाई पता करने की कोशिश कर रहे हैं।

सीएमएचओ डॉ बीआर पुजारी ने बताया कि उन तक भी यह जानकारी पहुंची है परंतु मौत की वजह अभी तक पता नहीं चल पाई है। प्रशासन उन लोगों की तलाश कर रहा है जो मृतकों के अंतिम संस्कार में शामिल होकर लौटे हैं। इनमें से अधिकांश पालनार गांव के ग्रामीण बताए जा रहे हैं।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना