बीजापुर। बीजापुर के मुसालूर चौक में सोमवार को तीन दिवसीय संभागीय महासभा का आयोजन किया गया। इस महासभा में सभांग भर हजारों की संख्या में गोंडवाना समाज के महिलाएं, युवा, बुजुर्ग तथा बच्चों ने भी हिस्सा लिया। समापन सत्र के मुख्य अतिथि प्रदेश के आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि प्रकृति की गोद में रहने वाले हमारे आदिवासी भाई-बहन अपने रीति-रिवाजों, परंपराओं और अनूठी संस्कृति के धनी हैं। खेती-किसानी और वनोपज संग्रहण के जरिए जीवन-यापन करने के साथ ही अब शिक्षा के द्वारा समाज को विकास की दिशा में निरंतर अग्रसर कर रहे हैं।

इस ओर हमें लगातार ध्यान केंद्रीत करना होगा तथा वनांचल में शिक्षा के उजियारा को फैलाना होगा। जिससे समाज के लोग जागर्स्क होने के साथ समाज के विकास को एक नई दिशा प्रदान कर सकें। समाज से बढ़कर कोई नहीं है। यह बात प्रदेश के आबकारी एवं उद्योग मंत्री तथा प्रभारी मंत्री जिला बीजापुर कवासी लखमा ने बीजापुर नगर के समीप मूसालूर में आयोजित संभागीय गोंडवाना सम्मेलन के समापन पर समाज के पदाधिकारियों एवं सदस्यों को संबोधित करते हुए कही।

प्रभारी मंत्री ने इस अवसर पर राज्य शासन द्वारा आदिवासी हितों के लिए संचालित योजनाओं-कार्यक्रमों की विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि राज्य सरकार आदिवासियों के कल्याण के प्रति कृत संकल्पित है। उन्होंने आदिवासी समाज के लोगों को शिक्षा के लिए निरंतर आगे आने पर जोर देते हुए पुरातन प्रथाओं में सुधार और व्यसनों को त्याग करने का सुझाव दिया। इसके पूर्व पूर्व सांसद सोहन पोटाई ने बस्तर संभाग के सभी प्राथमिक विद्यालय में गोंडी पढ़ाई कराने तथा एक शिक्षक रखने की मांग की गई।

इस मौके पर विधायक केशकाल एवं उपाध्यक्ष बस्तर विकास प्राधिकरण संतराम नेताम ने संभागीय गोंडवाना महासभा के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को समाज की सेवा करने हेतु शपथ दिलाया और उन्हे बधाई एवं शुभकामनाएं दी। वहीं अतिथियों ने क्षेत्र के देवी-देवताओं तथा देव विग्रहों की पूजा-अर्चना कर समाज के खुशहाली एवं समृद्धि का आशीर्वाद मांगा। इस मौके पर क्षेत्रीय विधायक एवं उपाध्यक्ष बस्तर विकास प्राधिकरण विक्रम मंडावी, पूर्व सांसद एवं समाज के प्रदेश पदाधिकारी सोहन पोटाई, गोंडवाना समाज के प्रदेश पदाधिकारी, समाज के नव निर्वाचित संभागीय अध्यक्ष सुमेर सिंह नाग, समाज के सभी जिलों के जिला अध्यक्ष एवं अन्य पदाधिकारी तथा बड़ी संख्या में समाज के सदस्य उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close