बीजापुर। छत्तीसगढ़ में 42 जवानों की शहादत में शामिल आठ लाख के इनामी राकेश उइका उर्फ बिल्ला ने सोमवार को तीन साथियों के साथ आत्मसमर्पण कर दिया। बिल्ला पीएलजीए (पीपुल्स लिबरेशन ऑफ गोरिल्ला आर्मी) का कमांडर हैं।

आत्मसमर्पण करने वालों में 16 जवानों की शहादत में शामिल तीन लाख के इनामी भैरमगढ़ एरिया कमेटी के प्लाटून नंबर 13 का सेक्शन डिप्टी कमांडर और प्रेस टीम का लीडर ककेम सुक्कू भी शामिल है। ककेम के साथ उसकी पत्नी एलओएस सदस्य सोमारी कड़ती ने भी सरेंडर किया।

एसपी कार्यालय में सीआरपीएफ डीआइजी कोमल सिंह, एसपी दिव्यांग पटेल और 85 बटालियन के कमांडेंट यादवेंद्र यादव के समक्ष इन लोगों ने आत्मसमर्पण किया। पोजेर पटेलपारा बीजापुर निवासी राकेश मुरपल्ली, भेज्जी, चिंतागुफा में हेलीकॉप्टर पर हमला, मिनफा, कसालपाड, पिडमेल, कोट्टाचेरु, गोरखा और तोंडामरका समेत 10 हमलों व एंबुश की घटनाओं में शामिल था।

वह एसएलआर और एलएमजी हथियार लेकर चलता था। ककेम भैरमगढ़ के पास कर्रेमरका हमला, बैलाडीला में बारूदी विस्फोट, बेचापाल और मिरतुर मार्ग हमले में शामिल था। आत्मसमर्पण करने वाला चौथा नक्सली जनमिलिशिया कमांडर बुधरू मोडियम है।

Posted By: Prashant Pandey