बीजापुर। बस्तर में नक्सलियों के खौफ के चलते प्रदेश में सत्ताधारी दल भाजपा के 17 स्थानीय नेताओं के बीजापुर जिले में सामूहिक इस्तीफे से संगठन हिल गया है। चिंतित आला पदाधिकारियों नें स्थिति की गंभीरता को देखते हुए मौके पर क्षेत्रीय विधायक और वन मंत्री महेश गागड़ा को भेजा है।

जिला पंचायत सदस्य और भाजपा के मंडल अध्यक्ष की हत्या और अन्य भाजपा नेताओं को नक्सलियों द्वारा जान से मारने की धमकी देने के बाद बीजापुर के भाजपा नेताओं में हड़कंप है। गागड़ा हालात का जायजा लेने रविवार को बीजापुर पहुंचे और कार्यकर्ताओं की बैठक ली। साथ ही अधिकारियों से भी मिलकर हालात की समीक्षा की।

विदित हो की शनिवार को भोपालपटनम के मंडल अध्यक्ष नीलम गणपत, पूर्व मंडल अध्यक्ष के लक्ष्मीनारायण, युवा मोर्चा अध्यक्ष जगदीश कोन्ड्रा, वेंगल राव, के श्रीनिवास, मुर्गेश सेट्टी, मनोज यालम, समेत 17 भाजपा नेताओं ने भाजपा के जिला अध्यक्ष जी वेंकट को इस्तीफा सौंपा है। उल्लेखनीय है कि नक्सलियों ने मद्देड़ के भाजपा नेता व जिला पंचायत सदस्य मज्जाी रामसाय की हत्या कर दी थी। साथ ही पर्चे फेंककर भाजपा नेताओं को पार्टी छोड़ने की चेतावनी देते हुए पार्टी नहीं छोड़ने पर जान से मारने की धमकी दी थी, जिसके चलते क्षेत्र के जनप्रतिनिधि दहशत में हैं।