बीजापुर। जिले में नक्सलियों का तांडव जारी है। शहीद सप्ताह के बाद नक्सलियों ने नेलसनार थाना क्षेत्र के ग्राम कांवड़गांव के एक ग्रामीण गोपीराम पोडियम की बुधवार की रात धारदार हथियार से हत्या कर दी। जानकारी के अनुसार 12-15 हथियार बंद नक्सलियों ने ग्रामीण गोपीराम को आठ अगस्त की रात घर से अपहरण कर लिया था। ग्रामीण पर नक्सलियों ने मुखबिरी का आरोप लगाया है। दो दिन तक पूछताछ व मारपीट करने के बाद धारदार हथियार से हत्या की गई है। हत्या के बाद गांव के समीप शव को फेंक दिया है। स्वजनों को इसकी जानकारी मिलने पर नेलसनार थाना में सूचना दी गई। नेलसनार से थाना प्रभारी शशिकांत यादव के साथ जवानों का दल रवाना हुआ है। बताया गया है कि घटना स्थल थाना से करीब 15 किलोमीटर की दूरी पर है जहां कई नदी नाले पार कर पुलिस को पहुंचना है। इस घटना की बीजापुर एसपी अंजनेय वैष्णव ने पुष्टि की है। एसपी ने बताया कि नेलसनार पुलिस बल घटना स्थल के लिए रवाना हुई है। भैरमगढ़ के एसडीओ पी तारेश साहू ने बताया कि गोपीराम पोडियम गांव का धनाढ्य किसान था, साथ ही एक छोटे से दुकानदारी भी करता था। पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाकर हत्या की गई है।

बीजापुर में गोपनीय सैनिक की हत्या या आत्महत्या, मामला संदिग्ध

बीजापुर नगर के अस्पताल पारा में एक गोपनीय सैनिक लक्ष्मण पोट्टाम (30) का शव फांसी के फंदे पर लटकते पाया गया है। ग्राम कोरचोली निवासी लक्ष्मण बीजापुर में गोपनीय सैनिक का काम कर रहा था। सूत्रों ने बताया कि लक्ष्मण अकेले घर में रहता था। घटना की रात मृतक, रिश्तेदार व भतीजे साथ में थे, जो अब फरार बताए जा रहे हैं। मृतक फांसी के फंदे पर लटका है। इस संबंध में बीजापुर टीआइ शशिकांत भारद्वाज का कहना है कि जांच के बाद ही सही स्थिति बताई जा सकती है कि मामला हत्या या आत्महत्या है। इस घटना का पर्दाफाश पोस्टमार्टम व फोरेंसिक जांच में पता चल सकता है। प्रथम दृष्टया पुलिस को पारिवारिक मामला लग रहा है। रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। आसपास के लोगों से पूछताछ जारी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close