बीजापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के थाना आवापल्ली क्षेत्रान्तर्गत चिलकापल्ली एवं टेकमेटला के जंगलों में पुलिस और नक्सलियों के बीच मंगलवार को दोपहर मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में एक नक्सली को गोली लगी है। घायल की शिनाख्त रायगुड़ा मिलिशिया सदस्य मुचाकी भीमा के रूप में हुई है। जवानों के द्वारा सर्चिंग करने पर मौके से जिलेटीन, कार्डेक्स वायर एवं अन्य नक्सली सामग्री बरामद की गई है।

मिली जानकारी के अनुसार 26 सितंबर 22 को डीआरजी, एसटीएफ एवं सीतापुर कैम्प से केंद्रीय रिजर्व पुलिस 229 की संयुक्त टीम नक्सली अभियान पर टेकमेटला के जंगलों की ओर निकली थी‌। इस बीच पुलिस जवानों को देख नक्सलियों ने फायरिंग कर दी। पुलिस जवानों के जवाबी कार्रवाई से नक्सली भाग खड़े हुए। घायल नक्सली भागने की कोशिश में था, लेकिन जवानों ने घेराबंदी कर उसे पकड़ लिया। घटनास्थल आवापल्ली के जंगलों में होने के कारण जानकारी मिलने देरी हुई। एसडीओपी तिलेश्वर सिंह यादव ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि घायल नक्सली को बीजापुर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

एक लाख के इनामी नक्सली ने किया आत्मसमर्पण

मंगलवार को सीआरपीएफ डीआईजी विनय कुमार डीआईजी पुलिस कमलोचन कश्यप एसपी दंतेवाड़ा के सामने एक लाख के इनामी नक्सली मुन्ना उर्फ कामा कड़ती ने भी आत्मसमर्पण कर मुख्य धारा में लौटकर जीवन यापन करने की बात कही।

समर्पित नक्सली (जनताना सरकार अध्यक्ष) के पद पर दंतेवाड़ा और बीजपुर सीमा पर सक्रिय था, जिस पर वर्ष 2005 में नक्सली बंद के दौरान सड़क काटने, 2006 में भी पुलिया तोड़ने, वर्ष 2010 में मुंडेर में ग्राम पंचायत भवन तोड़ने, 2005 से 20-21 तक आठ नक्सली वारदातों में शामिल था, समर्पित नक्सली पर थाना फरसपाल में दो मामले पंजीबद्ध है। जिसपर एक लाख का इनाम घोषित है। जिले में लगातार नक्सलियों के समर्पण से विकास कार्यों में जहां तेजी आ रही है, वहीं नक्सलियों के कैडर को लगातार बड़ा नुकसान हो रहा है।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close