बीजापुर। बस्तर क्षेत्र में नक्सल विरोधी मोर्चे पर काम कर रही पुलिस ने नक्सलियों की एक साजिश को नाकाम कर दिया है। पुलिस को सूचना मिली थी कि पामेड़ क्षेत्र में कुछ माओवादी विष्फोट जैसी घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं।

पक्की सूचना के आधार पर आईजी विवेकानन्द सिन्हा के मार्गदर्शन में जिला पुलिस बल, कोबरा बटालियन और एसटीएफ की संयुक्त पार्टी ग्राम एमपुर, रासपल्ली की ओर रवाना हुई। यहीं नक्सलियों का जमावड़ा नजर आया जो सड़क पर कम इन्प्लांट की कोशिश कर रहा था। जैसे ही फोर्स के आने की भनक उन्हें लगी, वे वहां से फरार हो गए, लेकिन एक महिला नक्सली को कुकर बम के साथ घेराबंदी कर पकड़ लिया गया।

बीजापुर के पुलिस अधीक्षक दिव्यांग पटेल ने बताया कि शुक्रवार को एमपुर-रासपल्ली के मध्य पहाड़ी जंगल में पुलिस पार्टी को देखकर सशस्त्र माओवादी भागने लगे जिनकी संख्या 8-10 थी। पुलिस पार्टी ने घेराबंदी कर एक महिला माओवादी को पकड़ लिया। उसके कब्जे से एक कुकर बम और 60-70 मीटर इलेक्ट्रीक वायर, बैटरी बरामद किया गया।

महिला से पूछताछ में अपना नाम जिम्मे मड़कम पिता जोगा उम्र 26 वर्ष बताया जो साकिन एमपुर थाना पामेड़ की रहने वाली है। वह संगठन में एलजीएस सदस्य के पद पर कार्यरत है। गिरफ्तारी के बाद महिला नक्सली को बीजापुर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।