बीजापुर। जिले में चलाए जा रहे नक्सली विरोधी अभियान के तहत थाना पामेड़ से 26 जनवरी को जिला बल एवं कोबरा 204 केरिपु 151, 196 का संयुक्त बल एरिया डामिनेशन डयूटी पर धरमारम की ओर निकली थी। संयुक्त टीम ने एरिया डामिनेशन डयूटी के दौरान धरमारम के जंगलों से थाना पामेड़ क्षेत्रांतर्गत लूट, हत्या का प्रयास, आगजनी, राजद्रोह, विस्फोटक पदार्थ, आर्म्स एक्ट के मामले में शामिल दो नक्सली सीतैया बोड़के थाना पामेड़, गुंडी किस्टैया थाना पामेड़ को गिरफ्तार किया।

पुलिस ने बताया कि थाना पामेड़ क्षेत्रांतर्गत 23 नवंबर 2003 को जिला बल एवं छसबल की संयुक्त टीम को मतदान केंद्र धरमारम की चेकिंग कर थाना वापसी के समय बम विस्फोट कर फायरिंग करने की घटना में शामिल, 12 सितंबर 2004 को तोंगगुड़ा और तिपापुरम के मध्य वेतन पार्टी पर बम विस्फोट कर फायरिंग की घटना में शामिल, 08 जून 2005 को थाना पामेड़ में फायरिंग की घटना में शामिल, 10 जून 2005 को तोंगगुड़ा और तिपापुरम के मध्य पुलिस पार्टी को क्षति पहुंचाने के उद्देश्य से आईइडी प्लांट करने में शामिल, 15 जून.2005 को पामेड़ तोंगगुड़ा मार्ग पर टिफिन बम लगाने की घटना में शामिल, 29 अगस्त 2019 को रासपल्ली के जंगलों में पुलिस पार्टी पर फायरिंग की घटना में शामिल, तीन जनवरी 2019 को धरमारम रोड निर्माण कार्य में लगे टैक्टर में आगजनी की घटना, 18 जून 2019 को जीड़पल्ली के ग्रामीण विजय गुंडी के धर से दैनिक राशन सामग्री, मवेशी, पलंग, आलमारी, दरवाजा, सोलर प्लेट, बैटरी आदि लूट की घटना में शामिल है।

दोनों नक्ली सीतैया बोड़के के विरूद्ध तीन और गुंडी किस्टैया के विरूद्ध पांच स्थाई वारंत थाना में लंबित पाया गया। थाना पामेड़ में उक्त दोनों नक्सलियों के विरूद्ध वैधानिक कार्रवाई कर न्यायालय बीजापुर पेश किया गया है, न्यायालय के आदेश पर जेल भेज दिया गया है।

पुलिस गस्त से नक्सली के हौसले पस्त

एएसपी पंकज शुक्ला ने बताया कि जिले में नक्सल विरोधी अभियान के तहत जवानों द्वारा लगातार गस्त जारी है। सीआरपीएफ, डीआरजी तथा सीएफ के जवान सूचना के आधार पर एरिया डोमिनेशन के तहत नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर जवानों की सक्रियता से नक्सलियों के द्वारा काले झंडे फहराने की कोशिश नाकाम रही।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local