बीजापुर। कलेक्ट्रेट में आयोजित बैठक में डीएमएफ की शासी परिषद की बैठक में 159 करोड़ 18 लाख र्स्पए राशि के प्रस्ताव स्वीकृत किए गए है। इसमें कृषि और संबंध गतिविधियों पर सबसे अधिक 30 करोड़ 84 लाख और स्वास्थ्य देखभाल में 15 करोड़ 10 लाख राशि का प्रावधान रखा गया है। शासकीय चिकित्सालयों में स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं के उन्नायन, गहन चिकित्सा इकाई से संबंधित सुविधाएं, स्वास्थ्य सेवाओं को प्रभावी बनाने के लिए आवश्यक अद्योसंरचना का सृजन और सभी आवश्यक उपाय शामिल है।

जिला पंचायत सीईओ रवि कुमार साहू ने परिषद के समक्ष पूरी कार्य योजना प्रस्तुत की। उन्होंने बताया कि कुल 159 करोड़ 18 लाख रूपए राशि कार्य योजना का प्रस्ताव शासी समिति के समक्ष अनुमोदन के लिए रखा गया है। जिसमें उच्च प्राथमिकता के 60 प्रतिशत अन्य प्राथमिकता के 40 प्रतिशत और भौतिक अद्योसंरचना के 20 प्रतिशत के लगभग कार्य शामिल है।

बैठक में क्षेत्रीय विधायक और बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विक्रम शाह मंडावी ने कहा शिक्षा स्वास्थ्य और कृषि क्षेत्र के विकास से जिले का विकास होगा। जिसके लिए विभागीय समीक्षा नियमित रूप से हो और प्रत्येक व्यक्तियों तक शासन की महत्वाकांक्षी योजनाएं पहुंचे और समुचित क्रियान्वयन सुनिश्चित हो। कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य महिला और बाल विकास विभाग के विभिन्ना योजनाएं संचालित है। जिससे आम नागरिक लाभान्वित हो रहे है।

आवश्यक कदम उठाने पड़ेंगे

वहीं ग्रामीण युवाओं को रोजगार के अवसर पैदा कर आजिविका के स्त्रोत प्रदाय किये जाने हेतु आवश्यक कदम उठाने पड़ेंगे। बैठक में शासी समिति के सदस्यगण जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियम जिला पंचायत और बस्तर विकास प्राधिकरण के सदस्य नीना रावतिया उद्दे, नगरपालिका बीजापुर के अध्यक्ष बेनहुर रावतिया और जनपद अध्यक्ष और सदस्यों ने अपने-अपने क्षेत्रों के प्रस्ताव रखे और सुझाव भी दिए। बैठक में डीएफओ अशोक पटेल, डीप्टी कलेक्टर सुमन राज, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्रीकांत दुबे, जिला शिक्षा अधिकारी प्रमोद ठाकुर सहित विभागीय अधिकारीगण मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local