बिलासपुर। Chhattisgarh 10th, 12th Result 2022: छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड द्वारा आयोजित कक्षा 10वीं और 12वीं का परीक्षा परिणाम दोपहर 12 बजे से जारी हो गया है। इसमें बिलासपुर के लगभग 45 हजार छात्र-छात्राओं का रिजल्ट भी शामिल है। खास यह कि कक्षा 12वीं की टॉप 10 सूची में बिलासपुर की खुशबू वाधवानी का नाम पहले रैंक पर 96.40 फीसद अंकों के साथ है। कक्षा 10वीं में बिलासपुर से कुल चार छात्र—छात्राओं ने टाप 10 में जगह बनाई है। इसमें 2 रैंक-जयप्रकाश कश्यप 98.17, 5 रैंक- हिमांगी हलदर 97.67, 7 रैंक- समीक्षा देवांगन 97.33 और 9 रैंक- चंद्रकांत श्रीवास 97% शामिल हैं।

कक्षा 12वीं बोर्ड

- बिलासपुर जिले से 19836 परीक्षार्थी पंजीकृत थे

- 19465 परीक्षा में शामिल हुए जबकि 19428 का परिणाम जारी किया गया

- 6358 प्रथम श्रेणी में पास हुए जबकि 8797 द्वितीय एवं 677 तृतीय स्थान प्राप्त हुआ

- 2911 छात्र छात्राओं को पूरा घोषित किया गया वहीं 1583 छात्र-छात्राओं को फेल घोषित किया गया

- कुल 15834 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए कुल प्रतिशत 81.50 रहा

कक्षा दसवीं बोर्ड

-परीक्षा में बिलासपुर जिले के 7,390 विद्यार्थी फेल

- जिले में कुल 26,796 परीक्षार्थी पंजीकृत थे।

- 25758 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए 25,755 छात्र-छात्राओं का परिणाम घोषित किया गया

- प्रथम श्रेणी में 8,498 द्वितीय श्रेणी में 8,206 तथा तृतीय श्रेणी में 1,660

- 1,023 छात्र—छात्राओं को पूरा घोषित किया गया है

- परीक्षा में 7,914 लड़के तथा 10,451 लड़कियों ने सफलता अर्जित की।

- कक्षा 10वीं का परीक्षाफल 71.30 रहा।

परीक्षा परिणाम को लेकर विद्यार्थियों के साथ अभिभावकों और शिक्षकों में भी उत्सुकता थी। रायपुर स्थित मंडल के सभागार में उच्च शिक्षा विभाग द्वारा वेबसाइट पर परीक्षा परिणाम जारी करते हैं विद्यार्थी अपना परिणाम रोल नंबर के माध्यम से देख सकेंगे। कोविड-19 महामारी के बाद यह पहला मौका है जब परीक्षार्थियों ने अपने स्कूलों में पर्चा हल किया है। गत वर्ष सभी विद्यार्थियों को प्रोन्नत किया गया था। परीक्षा परिणामों को लेकर सभी बेसब्री से इंतजार कर रहे थे।

बोर्ड के अधिकारियों की माने तो सबसे पहले टॉप टेन सूची जारी की जाएगी। गौरतलब है कि सत्र 2020-21 की परीक्षा बिलासपुर के 432 स्कूलों में संपन्न हुआ था। जिनमें 223 शासकीय विद्यालय और 209 निजी विद्यालय शामिल है। कक्षा दसवीं में 27,021 एवं कक्षा 12वीं में 19,526 परीक्षार्थी पंजीकृत थे। अनुपस्थितो का आंकड़ा इस साल काफी कम था। नकल प्रकरण के मामले में भी बिलासपुर में एक भी प्रकरण दर्ज नहीं हुआ है। यही कारण है कि इस बार शिक्षकों को भी इस परिणाम का बेसब्री से इंतजार है।

याद दिला दें कि कोविड-19 महामारी के कारण स्कूलों में ऑफलाइन पढ़ाई पूरी तरह से संपन्न नहीं हो सका था लिहाजा अधिकांश बच्चों ने ऑनलाइन ही कक्षाओं में शामिल हुए थे। शासकीय महारानी लक्ष्मीबाई कन्या शाला दयालबंद की प्राचार्य कैरोलिन सत्तूर का कहना है कि संकट की घड़ी में भी बच्चों ने पूरी मेहनत से पढ़ाई पूरी की है। शिक्षकों ने अपनी मेहनत में कोई कोर कसर नहीं छोड़ा है।

निश्चित रूप से इस वर्ष बिलासपुर जिले का परीक्षा परिणाम सुखद आने की उम्मीद है। परीक्षा परिणामों में एक बात जरूर संभव है कि बच्चों का अंक पहले की तुलना में कम आ सकता है क्योंकि कोविड-19 महामारी के बीच लिखने की गति बच्चों की काफी कम हो गई थी। ऐसे मैया उम्मीद करना कि बड़ी संख्या में बच्चे 90 फीसद से अधिक अंक हासिल करेंगे इसकी संभावना कम होगी। मल्टीपरपज स्कूल के प्राचार्य आरके गौराहा का कहना है कि बोर्ड परीक्षा का परिणाम सभी के लिए महत्वपूर्ण है। क्योंकि यही परिणाम बच्चों का भविष्य तय करेगा। माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड द्वारा 12 बजे वेबसाइट पर परीक्षा परिणाम जारी करते ही हम सब उसे देख पाएंगे।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local