बिलासपुर। बकायादारों के खिलाफ बिजली वितरण कंपनी की जांच और कार्रवाई जारी है। कंपनी ने पांच दिन की कार्रवाई का एक आंकड़ा जारी किया है। इसमें निर्देश के बाद बकाया भुगतान नहीं करने वाले 63 उपभोक्ताओं के घरों की लाइन काटी गई है। इनसे कंपनी को 15.15 लाख रुपये लेना है। हालांकि इस सख्ती का असर वसूली में दिखा। लाइन कटने के डर से 180 उपभोक्ताओं ने 39.51 लाख रुपये जमा किए।

साल का अंतिम महीना चल रहा है। इसलिए कार्रवाई भी तेज हो गई है। दरअसल महांत तक बकाया समाप्त करना है। यह तभी संभव है, जब बकायादारों पर सख्ती के साथ पेश आया जाए। जांच व कार्रवाई के लिए बनाई की टीम यही कर रही है। इन दिनों कंपनी का अन्य कामकाज प्रभावित है। कार्यालय की कमान संभालने वाले कर्मचारियों से लेकर अधिकारियों को वसूली अभियान में लगाया गया है।

इसका प्रभाव भी दिख रहा है। करीब 20 दिन से चल रहे इस अभियान के दौरान जहां लाइन काटने की कार्रवाई हो रही है। वहीं बकायादार बकाया जमा करने में भी दिलचस्पी दिखा रहे हैं। दो से छह दिसंबर के बीच में कंपनी की टीम ने 243 घरों में दबिश दी। इनमें से 180 उपभोक्ताओं ने 39.51 लाख रुपये जमा भी किया। पर 63 उपभोक्ता ऐसे थे, जिनमें लाइन कटने का भी खौफ नहीं था।

उन्हें समझाने के बाद भी बकाया जमा नहीं किए। इसलिए बिना किसी छूट के सीधे कनेक्शन काटने की कार्रवाई की गई। इस दौरान उन्हें समझाइश भी दी गई। बकाया जमा करने पर ही लाइन जुड़ेगी। यदि इसके बाद भी अनाधिकृत तौर पर लाइन जोड़ते मिलते हैं तो उनके खिलाफ बिजली अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local