बिलासपुर। कोरोना वायरस के डर से ज्यादतर लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं। वहीं, स्वास्थ्य विभाग की दो महिला मेडिकल लैब टेक्नीशियन कोरोना से जंग लड़ रही है। इन दोनों ने अब तक 80 से ज्यादा संदेहियों का सैंपल लिया है। इसमें शहर की पहली कोरोना पीड़ित महिला भी शामिल है। डॉक्टर, नर्स के अलावा स्वास्थ्य विभाग, पुलिस व जिला प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी कोरोना वायरस से लगातार जंग लड़ रहे हैं। ये योद्धा की तरह देश की रक्षा कर रहे हैं। इसमें दो महिला एमएलटी अनामिका यादव और सुनिता बंजारे भी शामिल हैं। वे संदेहियों का सैंपल लेने का काम कर रही हैं।

जबकि उन्हें अच्छी तरह मालूम है कि जरा सी गलती के गंभीर परिणाम झेलने पड़ सकते हैं। इसके बाद भी ये दोनों गजब का आत्मविश्वास दिख रही हैं। दोनों को कोरोना को हराने की जिद है। अपने इसी जज्बे के साथ सैंपल लेने का काम कर रही हैं।

इन दोनों ने बिलासपुर की पहली कोरोना पीड़ित महिला के साथ 80 से ज्यादा संदेहियों का सैंपल लिया है। दोनों का कहना है कि इस समय हमें देश की सेवा करने का मौका मिला है। ऐसा अवसर बहुत की कम लोगों को मिलता है। इसलिए बिना डरे कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं, जीत हमें जरूरी मिलेगा।

15 मिनट में पहुंच जातीं हैं मौके पर

इन दोनों की खासियत यह भी है कि हर समय काम के लिए तैयार रहती हैं। विभाग से किसी संदेही के सैंपल लेने की सूचना मिलते ही वे 15 से 20 मिनट में मौके पर पहुंच जाती हैं। अधिकारी उनके जज्बे को सलाम करते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना