बिलासपुर। आजादी के अमृत महोत्सव की प्रदेश के गोठानों में चमकरदार तस्वीर नजर आएगी। राज्य सरकार ने उत्कृष्ठ कार्य करने वाले गोठानों को पुरस्कृत करने का निर्णय लिया है। योजना पर गौर करें तो प्रदेश के तीन उत्कृष्ठ गोठानों को 50-50 हजार स्र्पये और प्रत्येक जिले के एक-एक उत्कृष्ठ गोठानों को 25-25 हजार स्र्पय का पुरस्कार दिया जाएगा। इसके लिए गोठानों का चयन करने का निर्देश प्रदेशभर के कलेक्टरों को दिया गया है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप राज्य एवं जिला स्तर पर उत्कृष्ट गौठानों को 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस समारोह में पुरस्कृत एवं सम्मानित किया जाएगा ।इसके लिए कृषि विभाग द्वारा उकृष्ट गोठनों के चयन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। राज्य के तीन सर्वश्रेष्ठ गौठानों को राज्य स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह में 50-50 हजार रूपये का पुरस्कार तथा प्रत्येक जिले के एक-एक उत्कृष्ट गौठानों को 25-25 हजार रूपये का पुरस्कार जिला स्तरीय समारोह में प्रदान किया जाएगा। समारोह में उत्कृष्ट गोठान से संबंधित ग्राम पंचायत के सरपंच एवं गोठान समिति के अध्यक्ष को मुख्य अतिथि द्वारा शाल, श्रीफल, प्रशस्ति पत्र एवं प्रतीक चिन्ह भेंटकर सम्मानित भी किया जाएगा। उत्कृष्ट गोठानों को पुरस्कृत करने हेतु 10 लाख रूपये का अनुमोदन गोधन न्याय मिशन की बैठक में किया जा चुका है।

ये रहेगी चयन की प्रक्रिया

कृषि विभाग ने उत्कृष्ट गोठानों के चयन के लिए बुनियादी ढ़ांचा, गोबर क्रय एवं कंपोेस्ट उत्पादन, विविध आजीविका एवं स्वावलंबन को आधार मानते हुए इसके लिए कुल 100 अंक निर्धारित किए हैं। बुनियादी ढांचा के अंतर्गत गोठानों में पानी, विुत, शेड, कोटना निर्माण, सोलर पंप, फेंसिंग सहित जियो टैगिंग के लिए अधिकतम सात अंक निर्धारित किया गया है। गोठानों में गोबर क्रय एवं कंपोस्ट उत्पादन के अंतर्गत गोबर की सक्रिय खरीदी, मात्रा, सक्रिय गोबर विक्रेता, वर्मी टांकों की उपलब्धता, गोबर से कम्पोस्ट रूपांतरण का अनुपात, उत्पादन के विरूद्ध वर्मी कंपोस्ट का विक्रय एवं मानक नमूनों के प्रतिशत के लिए अधिकतम 71 अंक निर्धारित किए गए हैं, गोठानों में आजीविकामूलक गतिविधियों तथा महिला समूह के प्रति सदस्य की औसत आय पर अधिकतम 12 अंक तथा स्वावलंबी गौठान द्वारा गोबर क्रय हेतु किए गए भुगतान की किश्त संख्या के लिए अधिकतम 10 अंक निर्धारित है।

उत्कृष्ट गोठान चयन के लिए जिला एवं राज्य स्तर पर समिति गठित की गई है। जिसके द्वारा उत्कृष्ट गोठानों का चयन गोधन न्याय योजना पोर्टल जी मैप में प्रवेष्टि आंकड़ों के आधार पर निर्धारित मापदंड के अनुरूप निरीक्षण एवं मूल्यांकन किया जाएगा। जिला स्तर पर एक गेैठान को पुरस्कृत करने हेतु प्रत्येक विकासखंड स्तर से एक-एक उत्कृष्ट गोठान में से दो उत्कृष्ट गोठानों का चयन कर जिला स्तरीय समिति द्वारा निरीक्षण एवं मूल्यांकन कर पुरस्कृत किया जाएगा। जिला स्तर पर चयनित उत्कृष्ट गौठान का राज्य स्तर पर चयन होने की स्थिति में जिला स्तर पर द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले उत्कृष्ट गौठान जिला स्तरीय पुरस्कार के लिए पात्र होंगे।

राज्य स्तर पर तीन गोठानों को पुरस्कृत करने के लिए जिला स्तर पर चयनित दो-दो उत्कृष्ट गोठानों के नाम को कलेक्टर के अनुमोदन पश्चात संभाग स्तर पर संयुक्त संचालक कृषि की अध्यक्षता में गोठानों के निरीक्षण एवं मूल्यांकन हेतु गठित समिति को भेजा जाएगा। संभाग स्तरीय समिति द्वारा कृषि संचालनालय को सात अगस्त तक उपलब्ध कराए गए प्रस्ताव ही मान्य होंगे। संचालनालय स्तर पर गठित समिति द्वारा संभाग स्तरीय समिति की अनुशंसा से प्राप्त उत्कृष्ट गोठानों में से राज्य स्तर हेतु तीन उत्कृष्ट गोठानों का चयन करेगी और प्रशासकीय अनुमोदन के लिए सूची आठ अगस्त तक शासन को उपलब्ध कराएगी।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close