बिलासपुर। अनजान युवक को लिफ्ट लेना शिक्षा विभाग के लिपिक को महंगा पड़ गया। बातचीत के दौरान उसने अपना परिचय पुलिस कर्मी के रूप में दिया। रास्ते में वाहन चेकिंग से बचने के लिए लिपिक ने उसे अपनी बाइक दे दी। इसके बाद अनजान युवक बाइक लेकर फरार हो गया। पीड़ित की शिकायत पर सिविल लाइन पुलिस ने तीन दिन पर जुर्म दर्ज किया है।

सरकंडा क्षेत्र के मोपका में रहने वाले रोहित शर्मा शिक्षा विभाग में लिपिक हैं। मंगलवार की शाम वे पाली से बिलासपुर लौट रहे थे। बेलतरा के पास एक युवक ने उसने लिफ्ट मांगी। इस पर उन्होंने युवक को अपनी बाइक में बैठा लिया। वे युवक को लेकर बिलासपुर तक आए। इस बीच युवक ने अपना नाम अस्र्ण मानिकपुरी बताया। साथ ही खुद को पुलिस विभाग में एसआइ बताया। नेहरू चौक के पास पुलिस वाहनों की जांच चल रही थी।

इससे बचने के लिए रोहित ने अपनी बाइक युवक को थमा दी। इसके बाद वे पैदल थोड़ा आगे तक गए। इधर युवक बाइक लेकर गायब हो गया। रोहित ने थोड़ी देर इंतजार के बाद इसकी जानकारी नेहरू चौक पर ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मियों को दी। साथ ही घटना की शिकायत सिविल लाइन थाने में की। पुलिस ने पीड़ित को लौटा दिया। रविवार को पुलिस ने रोहित की शिकायत पर जुर्म दर्ज कर मामले की जांच शुरू की है।

आसपास होती रही तलाश

पीड़ित ने मामले की सूचना सिविल लाइन पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस की टीम देर रात तक आरोपित की तलाश करती रही। वहीं, इधर पीड़ित भी अपनी शिकायत लेकर जुर्म दर्ज कराने थाने में घूमता रहा। तीन दिन तक जांच के बहाने घुमाने के बाद जुर्म दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local