बिलासपुर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर छत्तीसगढ़ में संगठन चुनाव की प्रक्रिया अब शुरू हो गई है। प्रदेश चुनाव निर्वाचन अधिकारी हुसैन दलवाई ने बीआरओ की सूची जारी कर दी है। जारी सूची में प्रदेश के दिग्गज कांग्रेसी नेताओं के नाम को शामिल किया है। विधायक, विधायक प्रत्याशी, सांसद व सांसद प्रत्याशियों के भी नाम हैं। दिग्गजों के बीआरओ के बाद संगठन चुनाव की पूरी प्रक्रिया भी दिलचस्प हो गई है।

एक साल बाद प्रदेश में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित है। इस बीच संगठन को दुस्र्स्त करने का काम प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने प्रारंभ कर दिया है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम का कार्यकाल समाप्त हो गया है। संगठन चुनाव की प्रक्रिया पूरी होते और नए अध्यक्ष की ताजपोशी तक वह कामकाज देखते रहेंगे। माना जा रहा है कि जिला व शहर कांग्रेस कमेटी और ब्लाक कमेटियों में संगठन के महत्वपूर्ण पदों पर काबिज अधिकांश पदाधिकारियों को विश्राम दिया जाएगा। नए चेहरे को अवसर मिलेगा।

पीसीसी के एक दिग्गज पदाधिकरी की मानें तो पांच साल पहले जिन लोगों ने सत्ता प्राप्ति के लिए संघर्ष किया और तत्कालीन प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ काम किया है और जिनको अवसर नहीं मिल पाया है ऐसे कांग्रेसजनों को संगठन के महत्वपूर्ण पदों पर काबिज करने और काम लेने की योजना बनाई जा रही है।

मुख्यमंत्री से लेकर दिग्गज कांग्रेसी नेताओं के बीआरओ नामित होने के बाद संगठन चुनाव की प्रक्रिया में विवाद की स्थिति बनने की गुंजाइश कम ही दिख रही है। सत्ता के गलियारे में प्रभावी भूमिका निभाने वालों को संगठन चुनाव कराने की जिम्मेदारी देने से चुनावी प्रक्रिया निर्बाध ढंग से पूरी होगी। यह भी अटकलें लगाई जा रही है कि चुनाव अधिकारी के बहाने दिग्गज अपने समर्थकों को भी संगठन के महत्वपूर्ण पदों पर एडजस्ट करने की कोशिश करेंगे। ऐसे समर्थक जो आजतलक उपकृत नहीं हो पाए हैं उन पर इनका फोकस रहेगा।

मेंबरशीप पर भी रहेगी नजर

संगठन चुनाव के दौरान उन पदाधिकरियों पर नजर रहेगी जिन्होंने एआइसीसी और पीसीसी के निर्देश के बाद भी आनलाइन मेंबरशीप में ठीक से काम नहीं किया और लक्ष्य पूरा नहीं कर पाए हैं। ऐसे लोगों की छुट्टी तय मानी जा रही है। पीसीसी चेयरमैन मोहन मरकाम ने पहले ही इस बात की चेतावनी दे दी थी कि आनलाइन मेंबरशीप में लक्ष्य पूरा ना करने वाले पदाधिकािरयों को निष्क्रिय मानते हुए छृट्टी कर दी जाएगी।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close