बिलासपुर। कोरबा- अमृतसर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस के बाद दुर्ग- जम्मूतवी एक्सप्रेस के यात्रियों को पेंट्रीकार से ही भोजन मिलेगा। आइआरसीटीसी ने इस ट्रेन में सात दिसंबर से सुविधा शुरू करने का निर्णय लिया है। इसके लिए पुराने लाइसेंसी को जवाबदारी सौंपी गई है। इसके साथ ही उसे तैयारियां करने के लिए कहा गया है।

जोन की करीब सात ट्रेनों में पेंट्रीकार की सुविधा है। इसकी कमान आइआरसीटीसी के पास है। इन ट्रेनों में पेंट्रीकार की सुविधा तो हैं पर खाना पकाने की अनुमति नहीं दी गई थी। इस पर रेलवे बोर्ड से ही पाबंदी थी। पर पिछले दिनों बोर्ड ने पाबंदियां हटा दी है। पाबंदी हटाने के साथ ही आइआरसीटीसी को सुविधा शुरू करने के लिए निर्देश भी दिए गए हैं।

इसके तहत आइआरसीटीसी तत्काल में उन्हीं ट्रेनों में पेंट्रीकार में खाना पकाने की अनुमति दे रहा है, जिनके लाइसेंसियों की ठेका अवधि बची है। इसी के तहत छत्तीसगढ़ में जल्द सुविधा शुरू हो सकी है। जम्मूतवी ट्रेन के संचालक का भी समय बाकी है, इसलिए उसे भी ठेका देते हुए तैयारी शुरू करने के लिए कहा गया है। यह साप्ताहिक ट्रेन है। इसलिए सात दिसंबर को दुर्ग से जो ट्रेन छूटेगी, उसमें यह सुविधा उपलब्ध रहेगी।

हालांकि इससे पहले आइआरसीटीसी की टीम व्यवस्था परखेगी। यह इसलिए जरुरी है कि अभी कोरोना संक्रमण पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है। ऐसे में पेंट्रीकार की सफाई, कर्मचारियों द्वारा कोविड-19 के नियमों का पालन करना और खानपान की क्वालिटी सभी महत्वपूर्ण है। आइआरसीटीसी का कहना है कि बची ट्रेनों की पेंट्रीकार में सुविधा प्रारंभ होने में कुछ महीने और लगेंगे।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local