बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिदिन

शनिवार को बिलासपुर से टाटा जाने वाली पैसेंजर में स्लीपर कोच ही नहीं लगाया गया। ट्रेन के प्लेटफार्म में आने पर यात्रियों ने हंगामा मचाना शुरू कर दिया। इसके बाद भी अधिकारियों ने यात्रियों को राहत पहुंचने की कोशिश नहीं की। मजबूरी में रिजर्वेशन कराने वाले यात्रियों को जनरल में सफर करना पड़ा।

इस ट्रेन का बिलासपुर से छूटने का समय शाम 7.20 बजे हैं। ट्रेन समय से पहले आकर प्लेटफार्म में खड़ी हो गई। इसके बाद यात्रियों के बैठने का सिलसिला शुरू हुआ। इस बीच कुछ यात्री भारी भरकम सामान लिए इधर-उधर भटकते नजर आए। भारी मशक्कत के बाद यात्रियों की भीड़ टीटीई के पास पहुंची। उन्होंने अपना टिकट दिखाकर रिजर्वेशन एस-वन कोच में होने की जानकारी दी। उनका कहना था कि एस वन कोच नजर नहीं आ रहा है। टीटीई ने उन्हें स्टेशन मास्टर के पास भेज दिया। जानकारी मिलते ही स्टेशन मास्टर व अन्य स्टाफ कोच ढूंढने लगा। कोच नहीं मिलने पर अधिकारी फोन घनघनाने लगे। इस दौरान पता चला कि ट्रेन टाटा से इसी तरह पहुंची है। वहां से किसी ने इसकी जानकारी नहीं दी। इस अव्यवस्था ने रेल प्रशासन की बेहतर सुविधा देने के दावे की पोल खोलकर रख दी। इधर आक्रोशित यात्रियों ने चेतावनी दी कि जब उनकी व्यवस्था नहीं की जाएगी ट्रेन को आगे नहीं बढ़ने देंगे। रेल प्रशासन उनके लिए दूसरे कोच का इंतजाम नहीं कर पाया। ऐसी स्थिति में इंजन के बाद तीसरे नंबर के जनरल कोच में यात्रियों को जगह दिलाई गई। दो घंटे चले विरोध के कारण करीब नौ बजे बिलासपुर से रवाना हो पाई।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस