बिलासपुर। Bilaspur News: तकरीबन ढाई महीने बाद सरकारी कार्यालयों में सोमवार को रौनक लौटी। कलेक्टर व जिला दंडाधिकारी डा.सारांश मित्तर ने आदेश जारी कर सोमवार से सरकारी कार्यालयों में शत-प्रतिशत उपस्थिति का आदेश जारी किया था। आदेश पर अमल भी हुआ। कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए कर्मचारियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।कोरोना संक्रमण की खतरनाक होती दूसरी लहर के दौरान 24 मार्च को कलेक्टर ने एक आदेश जारी कर शासकीय के अलावा अधर््ाशासकीय व निजी कार्यालयों में कर्मचारियों की उपस्थिति को बैन कर दिया था।

आदेश पर तत्काल प्रभाव से अमल भी हुआ। 25 मार्च से सरकारी कार्यालयों में कर्मचारियों की उपस्थिति शून्य हो गई थी। इस दौरान विभाग प्रमुखों को ही कार्यालय आने की छूट दी गई थी। विभाग प्रमुख शासकीय कामकाज निपटाने के लिए कार्यालय में अपनी उपस्थिति दर्ज कराते रहे। इस दौरान आम लोगों की उपस्थिति को भी बैन कर दिया गया था। दूसरी लहर अब तकरीबन खत्म हो गई है।

कलेक्टर के आदेश के मद्देनजर सोमवार से शासकीय सहित अर्धशासकीय व निजी कार्यालयों में कर्मचारियों की उपिस्थति नजर आने लगी है। कर्मचारी कोविड-19 गाइड लाइन का पालन करते भी दिखे। मास्क लगाए और शारीरिक दूरी के नियमों का पूरे समय पालन भी कर रहे थे। कर्मचारियों के टेबल में सैनिटाइजर भी नजर आया।

आम लोगों की उपस्थिति रही कम

पहले दिन शासकीय कार्यालयों में आम लोगों की उपस्थिति काफी कम रही। कामकाज के सिलसिले में लोगों की उपस्थिति नहीं के बराबर रही। मानसून की शुस्र्आत के साथ ही खेती किसानी का काम प्रारंभ हो गया है। लिहाजा चार महीने ग्रामीण कृषि कार्य में व्यस्त रहेंगे। सरकारी कार्यालयों में ऐसे ही आम लोगों की उपस्थिति काफी कम रहेगी।

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags